top menutop menutop menu

जांच में नहीं मिल रहे 250 शिक्षकों के अभिलेख

संत कबीरनगर : शासन के निर्देश पर सन 2010 से नियुक्त शिक्षकों की जांच चल रही है। इसमें विभिन्न समय में भर्ती हुए शिक्षकों की संख्या करीब बारह सौ है। इन्हीं शिक्षकों के पत्रावलियों की जांच हो रही है, जिसमें से करीब ढाई सौ शिक्षकों की फाइलों का पता नहीं चल पा रहा है। अधिकारी अब ब्लाकवार शिक्षकों का पता लगाने में जुटे हैं। इसके लिए अब शिक्षकों की सेवा पुस्तिका खंगाली जा रही है।

------------------

खलीलाबाद में मात्र 72 शिक्षकों के अभिलेख मिले

खलीलाबाद ब्लाक में जांच के लिए 207 शिक्षकों का अंक पत्र, प्रमाण पत्र आदि लेकर भेजा गया था। इनमें से अभी तक बीएसए कार्यालय से महज 72 शिक्षकों के अभिलेख मिले हैं। इसी प्रकार सांथा ब्लाक में 222 शिक्षकों में से 12 के अभिलेख गायब हैं। नाथनगर में भी 184 में 22 की जांच अधूरी है। अन्य ब्लाकों में भी शिक्षकों के अभिलेख नहीं मिल पाएं हैं।

---------------

एडीएम के नेतृत्व वाली टीम कर रही जांच

शासन ने परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों की जांच के लिए अपर जिलाधिकारी (एडीएम) संजय कुमार पांडेय की अध्यक्षता में टीम गठित की है। इसमें अपर पुलिस अधीक्षक के साथ ही जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी शामिल हैं। एडीएम ने इस बीच सात फर्जी शिक्षकों को पकड़कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर रिकबरी का निर्देश जारी कर दिया है।

------

कब-कब कितने मिले शिक्षक

बीते 10 वर्षों में 72 हजार शिक्षक भर्ती में जिले में 725 शिक्षक नियुक्त हुए। 29 हजार विज्ञान गणित भर्ती में 228 शिक्षक, चार हजार उर्दू भर्ती में 34 शिक्षक, 15 हजार शिक्षक भर्ती में 100 शिक्षक, 3500 उर्दू भर्ती में 25 शिक्षक और 15 हजार व 16000 शिक्षक भर्ती में 115 शिक्षक, 68500 में 248 शिक्षकों की नियुक्ति हुई है। इसमें से करीब तीन सौ शिक्षकों को बाद में स्थानांतरण हो गया।

--------------

फर्जी नियुक्ति की शिकायत पर गायब मिलीं फाइलें

2011 से लेकर 2015 तक जनपद के विभिन्न परिषदीय विद्यालयों में सहायक अध्यापक के पद पर फर्जी नियुक्ति की शिकायत पर तत्कालीन जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही ने डायट प्राचार्य प्रताप बघेल व तत्कालीन प्रभारी बीएसए प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी को जांच सौंपी थी। जांच में बीएसए कार्यालय से सहायक अध्यापक पद की नियुक्ति से संबंधित पत्रावली गायब मिलीं। नियुक्ति पटल सहायक राजकुमार पांडेय की तहरीर पर कोतवाली खलीलाबाद में मुकदमा भी दर्ज हुआ था। कितु दर्जनों फाइलों का पता नहीं चला। यह जांच बाद में ठंढ़े बस्ते में डाल दी गई।

----

ब्लाक में भेजी जा रही फाइलें

सभी शिक्षकों की जांच की जा रही है। ब्लाकों में खंड शिक्षा अधिकारियों को फाइलें भेजी गई हैं। कुछ फाइलों का सत्यापन चल रहा है। जो फाइलें नहीं पहुंची हैं उन्हें शीघ्र ही भेजा जाएगा। शिक्षकों से अभिलेख लेकर जांच पूरी की जाएगी। कुछ गायब फाइलों के बारे में सूचना जुटाई जा रही है।

सत्येंद्र कुमार सिंह, बीएसए

---

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.