गुरुद्वारा से निकली प्रभातफेरी, कीर्तन सुनकर संगत निहाल

शहीदी पर्व की प्रभातफेरी में गूंजी गुरुवाणी

JagranWed, 01 Dec 2021 11:27 PM (IST)
गुरुद्वारा से निकली प्रभातफेरी, कीर्तन सुनकर संगत निहाल

संतकबीर नगर : शहर में स्थित गुरुद्वारा से बुधवार की सुबह छह बजे शहीदी पर्व की प्रभातफेरी निकली। गुरुवाणी की गूंज एवं कीर्तन से संगत निहाल हुई।

सुबह छह बजे से गुरुद्वारा में गुरुवाणी हुई। इसके बाद कीर्तन करते संगत रवाना हुई। इंटर कालेज रोड, बैंक चौराहा, मिल चौराहा से वापस होकर संगत श्री गुरुसिंह सभागार पहुंची। यहां पर नवम गुरु तेग बहादुर सिंह का स्मरण करके नमन किया गया। समाज के सजग प्रहरी रहे श्रीगुरु के मानवहित में किए गए सामाजिक व धार्मिक कार्यों पर प्रकाश डाला गया। मानवता, सदाचार, आपसी सद्भाव, भाईचारा का पालन करके सद्मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम में छोटे-बड़े सभी लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस मौके पर गुरुद्वारा के अध्यक्ष अजीत सिंह, ज्ञानी जोगिदर सिंह, हरिभजन सिंह, सतविदरपाल सिंह जज्जी, शैंकी सिंह, प्रीतपाल सिंह, परविदर सिंह, मंजीत सिंह, भूपेंद्र पाल सिंह, बलवंत कौर, परजीत, सरनजीत कौर, गुंजा कौर, गुरुविदर कौर समेत अनेक लोग मौजूद रहे। गोला बाजार में आज निकलेगी प्रभातफेरी

दो सप्ताह तक चलने वाली प्रभातफेरी में दूसरे दिन गुरुवार को सुबह छह बजे गुरुद्वारा में संगत एकत्र होगी। इसके बाद प्रभातफेरी गोला बाजार, नेहरू चौक तक जाएगी। कीर्तन के पश्चात अरदास रखी जाएगी। पांच को होगी निशान साहेब की सेवा

गुरु तेग बहादुर महाराज का तीन दिवसीय शहीदी पर्व से छह दिसंबर से अखंड पाठ से प्रारंभ होगा। इससे पूर्व पांच दिसंबर को गुरुद्वारा में सुबह आठ बजे निशान साहेब की सेवा होगी। पर्व पर बच्चों के साहसिक करतब व सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। ख्याति प्राप्त कथाकारों द्वारा कवि दरबार, कीर्तन, गुरु का लंगर, भजन-कीर्तन होगा। आठ दिसंबर को अखंड पाठ की समाप्ति, कथा व्याख्या, लंगर कर प्रसाद वितरण होगा। तीन बजे से शोभायात्रा व झांकी निकलेगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.