मनरेगा में 66.73 लाख का घपला, वसूली सिर्फ 33 हजार

सबसे अधिक बेलहरकला में और सबसे कम बघौली ब्लाक में हुआ है घपला

JagranSat, 11 Sep 2021 12:05 AM (IST)
मनरेगा में 66.73 लाख का घपला, वसूली सिर्फ 33 हजार

संतकबीर नगर: पिछले दो वित्तीय सत्रों में मनरेगा में 66.73 लाख रुपये का घपला हुआ है। जनपद के नौ ब्लाकों में सबसे अधिक बेलहरकलां ब्लाक में 16.60 लाख तथा सबसे कम बघौली ब्लाक में 1.79 लाख रुपये की वित्तीय अनियमितता हुई है। सोशल आडिट टीम की जांच में यह बात सामने आई है। इस पर वसूली की कार्रवाई चल रही है। अब तक सिर्फ 33 हजार 874 रुपये की वसूली हो पाई है।

सोशल आडिट टीम की सौंपी गई जांच रिपोर्ट में बघौली में एक लाख 79 हजार 375 रुपये, बेलहरकलां में 16 लाख 60 हजार 050 रुपये, हैंसर बाजार में 10 लाख 10 हजार 135 रुपये, खलीलाबाद में दो लाख 29 हजार 620 रुपये, मेंहदावल में दो लाख 12 हजार 680 रुपये, नाथनगर में 15 लाख 32 हजार 068 रुपये, पौली ब्लाक में नौ लाख 89 हजार 575 रुपये तथा सेमरियावां ब्लाक में आठ लाख 60 हजार 329 रुपये कुल 66 लाख 73 हजार 832 रुपये का घपला हुआ है। मनरेगा से कच्ची व पक्की सड़क, पोखरा की खोदाई व सुंदरीकरण, नाली, खड़ंजा सहित अन्य कार्यों में वित्तीय अनियमितता की गई है। सख्ती के बाद भी अब तक सिर्फ बघौली में 5600 रुपये, खलीलाबाद में 24540 रुपये, सांथा में 1809 रुपये तथा सेमरियावां ब्लाक में 1925 रुपये कुल 33874 रुपये की वसूली हो पाई है। अभी भी मनरेगा से हड़पी गई 66 लाख 39 हजार 958 रुपये की वसूली किया जाना बाकी है। जनपद में मनरेगा से विकास के नाम पर ग्राम पंचायतों के प्रधान, पंचायत सचिव, रोजगार सेवक सरकारी धनराशि को हड़पने में लगे हुए हैं। संबंधित ब्लाकों के बीडीओ को गबन की गई समस्त धनराशि की वसूली करने को कहा गया है। इसमें लापरवाही कदापि बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सोशल आडिट टीम मनरेगा से हुए विकास कार्यों की जांच में जुटी हुई है। वहीं ग्रामीणों की अनियमितता की शिकायत पर भी संबंधित ग्राम पंचायतों में मनरेगा कार्यों की तुरंत जांच कराई जाती है। जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषियों पर कार्रवाई की जाती है।

डीडी शुक्ल, प्रभारी उपायुक्त मनरेगा

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.