सगा भाई निकला बहन का कातिल, सिर में तमंचे की बट मारकर की थी हत्या

जेएनएन बहजोई ( सम्भल ) एक सप्ताह पूर्व मेहुआ हसनगंज गांव के निकट झाड़ियों में मिले युवती के शव के मामले में पुलिस ने घटना का पर्दाफाश किया है। जिसमें सगे भाई ने ही बहन को मौत के घाट उतार दिया था। बहन पर तमंचे की बट से प्रहार किया गया था और बाद में उसका गला रस्सी से घोंटकर शव को झाड़ियों में फेंक दिया गया था। पुलिस ने आरोपित भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

JagranPublish:Fri, 03 Dec 2021 12:29 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 12:29 AM (IST)
सगा भाई निकला बहन का कातिल, सिर में तमंचे की बट मारकर की थी हत्या
सगा भाई निकला बहन का कातिल, सिर में तमंचे की बट मारकर की थी हत्या

जेएनएन, बहजोई ( सम्भल ) : एक सप्ताह पूर्व मेहुआ हसनगंज गांव के निकट झाड़ियों में मिले युवती के शव के मामले में पुलिस ने घटना का पर्दाफाश किया है। जिसमें सगे भाई ने ही बहन को मौत के घाट उतार दिया था। बहन पर तमंचे की बट से प्रहार किया गया था और बाद में उसका गला रस्सी से घोंटकर शव को झाड़ियों में फेंक दिया गया था। पुलिस ने आरोपित भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

बहजोई स्थित कार्यालय पर प्रेसवार्ता करते हुए पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र ने बताया कि 25 नवंबर को रजपुरा थाना क्षेत्र की झाड़ियों में एक युवती का शव मिला था। जिसकी शिनाख्त 21 वर्षीय सुधा पुत्री रामेश्वर गांव अब्दुलहई कोतवाली गुन्नौर के रूप में हुई थी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। जिसमें उसकी मौत का कारण सिर पर गहरी चोट लगने के बाद बताया गया। साथ ही गल्ले में रस्सी का निशान में भी। उधर, पिता रामेश्वर की ओर से रजपुरा थाने में उसके प्रेमी शिशुपाल गांव भीकमपुर जैनी के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने इस पूरे मामले में जांच पड़ताल की तो युवती के मोबाइल के जरिये स्पष्ट हुआ कि जिस वक्त उसके भाई के द्वारा उसके सिर पर तमंचे की बट से प्रहार किया गया था, उसी दौरान युवती ने कुरुक्षेत्र स्थित एक युवक के फोन पर काल किया था। जिसके नंबर को ट्रेस करते हुए पुलिस ने संबंधित युवक से बात की और घटना के संबंध में साक्ष्य तलाशे। जिसके बाद युवती के भाई अमित कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई और घटना से संबंधित साक्ष्य जुटाए गए। पुलिस के समक्ष पूछताछ में उसने वारदात को अंजाम देने का जुर्म कबूल लिया। प्रेमी को हिरासत में लेकर भी की थी पूछताछ

पुलिस ने युवती के प्रेमी शिशुपाल को हिरासत में लिया था। शिशुपाल ने बताया कि युवती 19 मई 2021 को उसके साथ गई थी। जिसके बाद वह हरियाणा के कुरुक्षेत्र में रहकर मेहनत मजदूरी करते थे। कुछ दिन बाद ही युवती के स्वजन ने उसे गांव बुला लिया। 19 नवंबर को दोनों लोग कुरुक्षेत्र से गांव आए युवती अपने भाई के साथ गुन्नौर चली गई। जबकि शिशुपाल अपने भाई के घर गवां में रहने लगा। बहला-फुसलाकर प्रेमी के चुंगल से बुलाया, नहीं मानी तो उतार दिया मौत के घाट

फोन से संपर्क होने के बाद युवती के परिवार वालों ने उसे कुरुक्षेत्र से वापस घर बुलाया था। लेकिन वह घर रहने को तैयार नहीं थी। जिसके चलते वह कस्बा गुन्नौर में एक निर्माणाधीन मकान में दो दिन तक रुकी। बाद में वह अपने प्रेमी के यहां जाने की जिद करने लगी। तभी उसका भाई अमित ने कहा कि वह रजपुरा के पाठकपुर जा रहा है और उसे गवां छोड़ देगा। पुलिस के अनुसार वह बबराला से अपनी बहन को बाइक पर बिठाने से पहले किसी दुकान पर गया। जहां से उसने एक रस्सी खरीदी और तमंचा पहले से ही उसके पास था। 22 नवंबर को सुबह करीब छह बजे यारा फर्टिलाइजर परिसर से निकलते हुए मेहुआ हसनगंज गांव के पास कच्चे रास्ते पर लघुशंका के बहाने कुछ देर रुका। युवती दूसरी तरफ को चेहरा करके खड़ी हो गई। तभी उसने तमंचे की बट से उसके सिर में पीछे से प्रहार कर दिया। बाद में रस्सी से उसका गला घोंट दिया और शव झाड़ियों में फेंक दिया। तुझे कसम है भैया, मुझे छोड़ दे..

युवती अपने भाई की बाइक पर बैठकर जरूर आई थी लेकिन उसे उसकी गतिविधियों पर शक होने लगा था। तभी उसने अपने फोन से कुरुक्षेत्र स्थित अपने मालिक को फोन लगा दिया था। इसी दौरान उसके भाई ने पीछे से सिर पर वार कर दिया। युवती के द्वारा बोला जा रहा था कि भैया तुझे कसम है, मुझे छोड़ दे..। लगातार वह जिदगी की भीख मांग रही थी लेकिन सिर में चोट मारने के बाद उसने उसके गले पर रस्सी से फंदा बनाया और गला घोंटते हुए झाड़ियों में फेंक दिया। जिसकी कुछ बातचीत व चीखने की आवाज कुरुक्षेत्र स्थित उस मालिक के फोन काल में रिकार्ड हो गई। पुलिस किसी प्रकार से उसका नंबर ट्रेस करते हुए उसके संपर्क में पहुंची तो उसने इस घटना से संबंधित काल रिकार्डिंग पुलिस को प्रेषित की। पहले से शादीशुदा थी युवती, बाद में प्रेमी के साथ हो गई थी फरार

राजपुरा के प्रभारी निरीक्षक कुलदीप सिंह ने बताया कि वर्ष 2019 में युवती की शादी बदायूं जनपद के बिल्सी थाना क्षेत्र के गांव सिमरा भोजपुर के एक युवक के साथ हुई थी। लेकिन कुछ दिन बाद वह अपने मायके आ गई थी। जिसके बाद 19 मई 2021 को वह अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई थी। तभी से परिवार वाले उसकी तलाश कर रहे थे।। लेकिन आठ महीनों तक कुरुक्षेत्र में रहने के दौरान युवती ने अपने परिवार वालों से कोई संपर्क नहीं किया।