तनातनी के बाद आमने-सामने चिकित्सक और फार्मासिस्ट

तनातनी के बाद आमने-सामने चिकित्सक और फार्मासिस्ट
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 12:39 AM (IST) Author: Jagran

बहजोई (सम्भल) : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुन्नौर के अंतर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र धनारी पर ड्यूटी लगाने को लेकर फार्मासिस्ट और चिकित्सा प्रभारी आमने-सामने आ गए। एक ओर जहां चिकित्सा प्रभारी ने फार्मासिस्ट पर मारपीट और गाली गलौज का आरोप लगाया है तो वहीं, फार्मेसिस्ट ने संगठन के माध्यम से सीएमओ से मुलाकात कर मामले में निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की है। इसके अलावा चिकित्सकों ने भी डीएम के नाम ज्ञापन देते हुए शनिवार को पेन डाउन कार्य बहिष्कार का ऐलान किया है।

बता दें कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गुन्नौर में तैनात फार्मासिस्ट लक्ष्मी नारायण उर्फ दीपक कुमार को चिकित्सा प्रभारी डॉ राजकिशोर ने धनारी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ड्यूटी करने के लिए निर्देशित किया था, लेकिन वहां पर पहले से ही ड्यूटी पर मौजूद अन्य फार्मासिस्ट के बाद उन्होंने चिकित्सा प्रभारी पर मानसिक शोषण का आरोप लगाया, जिसके बाद दोनों में तनातनी हो गई और कहासुनी के दौरान अन्य फार्मासिस्टों के द्वारा बीच-बचाव किया गया। डॉ राजकिशोर ने गुन्नौर कोतवाली में शिकायती पत्र देकर फार्मासिस्ट पर मारपीट गाली-गलौज और धमकी देने का आरोप लगाया। उधर, फार्मासिस्ट की ओर से मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पूरे मामले में अवगत कराया गया। इसके चलते शुक्रवार को जिले के स्वास्थ्य विभाग में तैनात करीब एक दर्जन चिकित्सक प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के बैनर तले कलेक्ट्रेट पर पहुंचे, जहां उन्होंने डीएम से मुलाकात करने का प्रयास किया। चिकित्सकों का आरोप है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी भी उनकी शिकायत का सही तरीके से संज्ञान नहीं ले रही हैं, जिसकी वजह से उन्हें 31 अक्टूबर को पेन डाउन कार्य बंद करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इस अवसर पर डॉ मनोज चौधरी, डॉ शिशुपाल सिंह, डॉ राजकिशोर आदि मौजूद रहे। फार्मासिस्टों ने सीएमओ से की मुलाकात, हो निष्पक्ष कार्रवाई

डिस्ट्रिक्ट फार्मासिस्ट एसोसिएशन के बैनर तले जिले के फार्मासिस्ट शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अमिता सिंह से मिले और उन्होंने गुन्नौर में चिकित्सक व फार्मासिस्ट के बीच हुई कहासुनी के बारे में अवगत कराया। उन्होंने कहा कि फार्मासिस्ट लक्ष्मी नारायण के विरुद्ध चिकित्सा प्रभारी के द्वारा झूठी शिकायत पुलिस को दी जा रही है। इस अवसर पर फार्मासिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डॉ. वाईपी जोशी ने कहा कि फार्मासिस्ट कोरोना के प्रकोप के चलते अपना काम करते रहेंगे, लेकिन अगर किसी भी फार्मासिस्ट के विरुद्ध अनावश्यक या झूठी कार्रवाई होती है तो संगठन इसका विरोध करेगा और समय आने पर आंदोलन भी कर सकता है। फिलहाल हमने इस संबंध में विभागीय अधिकारियों को अवगत करा दिया है, जिसकी जांच के बाद आगे की रणनीति बनाई जाएगी। एसीएमओ की टीम करेगी पूरे मामले की जांच

गुन्नौर सीएससी के तीन फार्मासिस्ट लक्ष्मी नारायण, शशिधर यादव और जसवंत सिंह के द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी से की गई शिकायत के बाद जांच टीम का गठन किया गया है, जिसमें सीएमओ ने अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रामजीलाल और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अज़फर कमाल को जांच के लिए निर्देशित किया है। यह टीम पूरे मामले की जांच पड़ताल करेगी, जिसके बाद इसकी रिपोर्ट सीएमओ को सौंपेगी। जांच टीम की रिपोर्ट के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। सीएससी में तैनात फार्मासिस्ट लक्ष्मी नारायण उर्फ दीपक यादव स्थानीय निवासी है और सीएससी में अनावश्यक रूप से हम पर अनैतिक दबाव बनाना चाहते हैं। डीएम के अनुमोदन के बाद धनारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर दो दिन पूर्व ड्यूटी पर लगाया गया था, लेकिन उसने ड्यूटी पर जाने से इन्कार कर दिया। इसके बाद मेरे साथ मारपीट और गाली गलौज करते हुए धमकी दी है।

डॉ राजकिशोर, चिकित्सा प्रभारी, सीएससी, गन्नौर। चिकित्सा प्रभारी के द्वारा धनारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहले से मौजूद फार्मासिस्ट के बावजूद मुझे भेजा जा रहा था, जिसका नियमानुसार विरोध किया तो वह भड़क गए। अब उनके द्वारा मुझ पर बेबुनियाद आरोप लगाए जा रहे हैं। इस मामले में सीएमओ के द्वारा कमेटी गठित की गई है। जांच रिपोर्ट आने के बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

लक्ष्मी नारायण उर्फ दीपक यादव गुन्नौर सीएससी केंद्र में फार्मासिस्ट और चिकित्सा प्रभारी के बीच कहासुनी हुई थी, जिसमें चिकित्सा प्रभारी की ओर से मारपीट की तहरीर दी गई है जिसकी जांच की जा रही है। प्राथमिक जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

संजीव कुमार, प्रभारी निरीक्षक, गुन्नौर। गुन्नौर के प्रकरण में दो सदस्यीय जांच टीम का गठन किया गया है, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद जो भी दोषी होगा, उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

डॉ अमिता सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सम्भल क्या है पूरा मामला

गुन्नौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में फार्मासिस्ट और चिकित्सा प्रभारी के बीच तनातनी का मामला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ड्यूटी लगाने को लेकर है। चिकित्सा प्रभारी डॉ राजकिशोर की मानें तो धनारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात फार्मासिस्ट प्रमोद कुमार निजी कारणों से दो दिन के लिए अवकाश पर चले गए थे जिसके बाद डीएम के अनुमोदन के चलते फार्मासिस्ट लक्ष्मी नारायण को वहां पर तैनाती दी गई थी लेकिन शनिवार को जैसे ही प्रमोद कुमार अपने घर से वापस आ गए तो लक्ष्मी नारायण ने ड्यूटी पर जाने से इन्कार कर दिया। इस दौरान चिकित्सा प्रभारी ने बिना किसी अग्रिम आदेश के उन्हें धनारी में ही ड्यूटी करने के लिए निर्देशित किया। इसके चलते दोनों में तनातनी हो गई और कहासुनी के बाद मामला बिगड़ गया। वहीं फार्मासिस्ट ने चिकित्सा प्रभारी पर अनावश्यक रूप से दूसरे स्थान पर ड्यूटी के लिए भेजने के मामले को मानसिक उत्पीड़न बताया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.