पवांसा में घायल अवस्था में मिला मोर, किया उपचार

पवांसा में घायल अवस्था में मिला मोर, किया उपचार
Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 12:16 AM (IST) Author: Jagran

सम्भल, जेएनएन: हयातनगर थाना क्षेत्र के गांव बसला की मढ़ैया में घायल अवस्था में मोर पड़ा मिला। रास्ते से जा रहे ग्रामीणों ने घायल मोर को देखा तो वन विभाग के लिए सूचना दी। सूचना पर वन विभाग और पशु चिकित्सक मौके पर पहुंचे जहां घायल मोर का उपचार किया गया। वहीं बहजोई में कुत्तों ने एक मोर पर हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

थाना क्षेत्र के गांव बसला की मढैया के जंगल में गुरुवार को घायल अवस्था में मादा मोर मैंथा फैक्ट्री के नजदीक पड़ा हुआ था। जंगल से जा रहे ग्रामीणों को घायल अवस्था में मोर पड़ा हुआ दिखाई दिया तो ग्रामीण अजीत सैनी ने वन विभाग के कर्मचारियों मोर के घायल हो की जानकारी दी। मौके पर पहुंचे वन विभाग के वीट प्रभारी राकेश कुमार और वनमाली अमर सिंह ने पवांसा पशु चिकित्सक को सूचना दी। सूचना पर पहुंचे पशु चिकित्सक ने घायल मोर का उपचार किया। उपचार के बाद घायल मोर को वन विभाग की टीम पवांसा ब्लॉक क्षेत्र की पौधशाला भवानीपुर ले गई। जहां घायल मोर को वन विभाग की देखरेख में रखा गया। पवांसा पशु चिकित्सक नीरज गौतम ने बताया कि किसी जंगली कुत्ते द्वारा मोर पर हमला किया गया, जिसमें उसकी गर्दन के पास गहरे घाव के निशान हैं।मोर को वन विभाग की देखरेख में सौंप दिया गया है। वही दूसरी तरफ बहजोई कोतवाली क्षेत्र के एक गांव बिचौला भोजपुर के ग्रामीणों की माने तो राष्ट्रीय पक्षी मोर जिनका एक समूह गांव के आसपास घूमता रहता है लेकिन गुरुवार को सड़क से कुछ दूरी पर मोर के एक झुंड पर खूंखार कुत्तों ने हमला कर दिया, जिससे एक मोर उनके हमले की चपेट में आ गया, जिसे उन्होंने मार दिया। इसकी सूचना वन विभाग के अधिकारियों को दे दी गई है। ग्रामीणों ने बताया कि यहां पर काफी मोर रहते हैं। अगर खूंखार कुत्ते इन पर हमला करते रहे तो उनकी संख्या लगातार घटती चली जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.