ओमिक्रोन का बढ़ रहा खौफ, फिर भी लापरवाही बरत रहे लोग

जेएनएन सम्भल देश में ओमिक्रोन का खौफ लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में सरकार भी लोगों को सतर्कता बरतने के साथ नए नियम कानून लागू कर रही है जिससे संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके। परंतु इस सबके बाद भी लोग लापरवाही कर रहे हैं। बाजार व भीड़ वाले स्थान पर बिना मास्क व शारीरिक दूरी के लोग खरीदारी करते हुए नजर आ रहे हैं।

JagranPublish:Fri, 03 Dec 2021 12:31 AM (IST) Updated:Fri, 03 Dec 2021 12:31 AM (IST)
ओमिक्रोन का बढ़ रहा खौफ, फिर भी लापरवाही बरत रहे लोग
ओमिक्रोन का बढ़ रहा खौफ, फिर भी लापरवाही बरत रहे लोग

जेएनएन, सम्भल: देश में ओमिक्रोन का खौफ लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में सरकार भी लोगों को सतर्कता बरतने के साथ नए नियम कानून लागू कर रही है, जिससे संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके। परंतु इस सबके बाद भी लोग लापरवाही कर रहे हैं। बाजार व भीड़ वाले स्थान पर बिना मास्क व शारीरिक दूरी के लोग खरीदारी करते हुए नजर आ रहे हैं।

ओमिक्रोन का खतरा लगातार बढ़ रहा है। हर कोई इस पर बात भी कर रहा है, लेकिन इसके बाद भी लोग लापरवाह बने हुए हैं। बाजार में भीड़ उमड़ रही है। पूरे दिन खरीदारों की भीड़ लगी रहती है, लेकिन किसी के मुंह पर मास्क नजर नहीं आता है। यह लापरवाही ओमिक्रोन को बढ़ावा दे रही है। इतना ही छात्र-छात्राओं के चेहरे पर भी मास्क नजर नहीं आ रहा है। गुरुवार को जागरण की टीम ने जब स्कूलों में जाकर देखा तो 80 फीसद छात्र-छात्राएं बिना मास्क के नजर आई। उधर, जिला अस्पताल से लेकर निजी अस्पतालों में का भी यही हाल है। जहां पहले शारीरिक दूरी का पालन किया जा रहा था और मास्क भी अधिकांश लोगों के मुंह पर नजर आते थे, लेकिन अब शारीरिक दूरी का तो कोई पालन कर ही नहीं रहा बल्कि मास्क भी गायब हो गए है। इनसेट-

अभिभावकों और शिक्षकों को देना होगा ध्यान

इस समय शिक्षण संस्थान खुले हुए हैं। छात्र-छात्राएं उत्साह के साथ स्कूल जा रहे हैं, लेकिन 80 फीसद छात्र-छात्राएं मास्क लगाए नजर नहीं आ रहे हैं। यह खतरे को बढ़ावा दे रहा है। जबकि हम अपने देश के भविष्य को खतरे में नहीं डाल सकते। ऐसे में अभिभावकों को अपने बच्चों को स्कूल भेजते समय मास्क देना होगा। साथ ही शिक्षकों को यह सुनिश्चित कराना होगा कि छात्र-छात्राएं स्कूल में मास्क लगाकर रखें।

पुलिस को करनी होगी सख्ती

बाजार में आने वाले लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं। लोग पुलिस के सामने से बिना मास्क लगाए गुजर जा रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें टोक नहीं रही है। अब पुलिस की जिम्मेदारी है कि जो भी बिना मास्क के बाजार में आ रहे हैं उनके साथ सख्ती की जाए।