भाजपा नेता ने पुलिस पर लगाया मारपीट व अभद्रता का आरोप, धरने पर बैठे कार्यकर्ता

जेएनएन गुन्नौर कोतवाली क्षेत्र में एक भाजपा नेता ने पुलिस पर मारपीट व अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए एसपी से शिकायत की है। यह जानकारी जब भाजपाइयों को लगी तो वह थाने में पहुंचे और धरने पर बैठ गए। सूचना मिलने पर एएसपी मौके पर पहुंच गए और जांच करके कार्रवाई करने का आश्वासन देकर धरना समाप्त कराया।

JagranPublish:Mon, 27 Sep 2021 12:28 AM (IST) Updated:Mon, 27 Sep 2021 12:28 AM (IST)
भाजपा नेता ने पुलिस पर लगाया मारपीट व अभद्रता का आरोप, धरने पर बैठे कार्यकर्ता
भाजपा नेता ने पुलिस पर लगाया मारपीट व अभद्रता का आरोप, धरने पर बैठे कार्यकर्ता

जेएनएन, गुन्नौर : कोतवाली क्षेत्र में एक भाजपा नेता ने पुलिस पर मारपीट व अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए एसपी से शिकायत की है। यह जानकारी जब भाजपाइयों को लगी तो वह थाने में पहुंचे और धरने पर बैठ गए। सूचना मिलने पर एएसपी मौके पर पहुंच गए और जांच करके कार्रवाई करने का आश्वासन देकर धरना समाप्त कराया।

क्षेत्र के बबराला निवासी राजीव माहेश्वरी पुत्र सीताराम माहेश्वरी भाजपा में बबराला मंडल उपाध्यक्ष है। राजीव ने एसपी को शिकायती पत्र भेजकर बताया कि रविवार की सुबह लगभग 11 बजे वह अपनी पत्नी को गुन्नौर सीएचसी में दिखाने के लिए गए थे। तभी उसके पास उसके रिश्तेदार का फोन आया कि गांव में विवाद हो गया था, जिसमें उसके रिश्तेदार के काफी चोट आई। ऐसे में वह अपनी पत्नी को सीएचसी में छोड़कर कोतवाली में अपने रिश्तेदार को देखने के लिए आ गए थे। राजीव ने बताया कि थाने में प्रभारी निरीक्षक ने घायल के साथ मेडिकल परीक्षण के लिए राजीव को साथ जाने के लिए कहा। इस पर उन्होंने पत्नी के डाक्टर के यहां भर्ती होने की बात कहते हुए इन्कार कर दिया। आरोप है कि इस बात का बुरा मानकर प्रभारी निरीक्षक ने उनके साथ मारपीट व अभद्रता करते हुए गाली-गलौज करना शुरू कर दिया। यह जानकारी जब बबराला मंडलाध्यक्ष विनय कुमार वाष्र्णेय को हुई तब उन्होंने पुलिस द्वारा गलत व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए घटना की निदा करते हुए कार्रवाई की मांग की है। किसी के साथ किसी प्रकार की कोई मारपीट नहीं की गई है। गलत आरोप लगाया जा रहा है। एक मारपीट का मामला आया था, जिसमें दोनों पक्षों के लोगों को बैठा लिया गया था, जिससे कि वापस जाकर दोनों पक्ष फिर से झगड़ा न करें। एक पक्ष के साथ राजीव महेश्वरी भी थे। इनके द्वारा किसी प्रकार की कोई जानकारी नहीं दी गयी थी।

विकास सक्सेना, प्रभारी निरीक्षक, कोतवाली गुन्नौर