मधुमक्खी पालन में 88 हजार का अनुदान, आएगा शहद बनाने के काम

जेएनएन बहजोई उद्यान विभाग की ओर से किसानों को आत्मनिर्भर बनने के लिए एपीकल्चर के क्षेत्र म

JagranSat, 25 Sep 2021 11:51 PM (IST)
मधुमक्खी पालन में 88 हजार का अनुदान, आएगा शहद बनाने के काम

जेएनएन, बहजोई : उद्यान विभाग की ओर से किसानों को आत्मनिर्भर बनने के लिए एपीकल्चर के क्षेत्र में अनुदान देकर मौका दिया जा रहा है, जिससे वह मधुमक्खी का पालन कर अतिरिक्त कमाई कर सकें। सरकार की ओर से अनुदान का लाभ लेकर कोई भी किसान अपनी अतिरिक्त आमदनी कर सकता है।इसके लिए जिला उद्यान विभाग में आवेदन किए जा रहे हैं।

उद्यान विभाग के अनुसार इसके लिए वह संबंधित दस्तावेज के साथ आवेदन विभाग में जमा करते हुए 40 फीसद तक का अनुदान प्राप्त कर सकते हैं। 50 बाक्स की लागत दो लाख रुपये आती है, जिस पर 80 हजार रुपये का अनुदान सरकार की ओर से मिल रहा है। जबकि बीस हजार रुपये के उपकरण भी खरीदे जाते हैं, जिस पर आठ हजार का अनुदान दिया जा रहा है। उद्यान विभाग के द्वारा एपीकल्चर के कारोबार के लिए किसानों को प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाता है। क्या है मधुमक्खी पालन, कैसे करें?

बहजोई: कृत्रिम बाक्स में मधुमक्खियों का पालन कर उनके द्वारा एकत्रित किए गए शहद को निकालकर बाजार में बेचा जाता है। जिन स्थानों का वातावरण शांत रहता है। वहां पर मधुमक्खियों के लिए आकर्षक स्थान होता है। मधुमक्खियों की आदत के अनुकूल कृत्रिम ग्रह अर्थात बाक्स में उनकी वृद्धि करने के लिए ऐसे स्थानों का चयन किया जाता है जहां पर खेतों या जंगल में ज्यादातर पुष्प वाले पौधे या फसल होती है। मधुमक्खी पालन का उपयुक्त समय

एपीकल्चर का कारोबार वैसे तो पूरे वर्ष किया जाता है। लेकिन वसंत ऋतु के दौरान जनवरी से मार्च के समय इसके लिए उपयुक्त होता है। वहीं, ठंड के दौरान नवंबर से फरवरी का समय फायदेमंद हो सकता है। हालांकि इस दौरान लापरवाही होने पर मक्खियों के मरने का भी खतरा रहता है। मधुमक्खी पालन से होने वाली कमाई और कहां से खरीदें बाक्स

बहजोई: चार प्रकार की मधुमक्खियों की प्रजाति ज्यादातर पाई जाती है। जिसमें मधुमक्खी को खरीदने के लिए अन्य कारोबारियों से संपर्क किया जा सकता है। जिले के अलग-अलग स्थानों पर पहले से कारोबार कर रहे हैं। वह इस कार्य के लिए बेहतर प्रशिक्षण भी दे सकते हैं और जिला उद्यान विभाग में भी इस संबंध में जानकारी ली जा सकती है। वर्तमान में सरकार के द्वारा मधुमक्खी पालन के लिए किसानों को अनुदान दिया जा रहा है। अगर कोई किसान 50 बाक्स खरीद कर कारोबार शुरू करना चाहता है तो उसे लगभग 88 हजार की अनुदान राशि दी जाएगी। इसके लिए वह कार्यालय में आवेदन कर सकता है।-

सुघर सिंह, जिला उद्यान अधिकारी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.