एक माह से पानी को तरस रहे चार गांव के ग्रामीण

एक माह से पानी को तरस रहे चार गांव के ग्रामीण

जड़ौदापांडा में प्रदेश सरकार द्वारा पेयजल व्यवस्था को बेहतर बनाकर हर घर तक स्वछ पेयजल देने के लिए जल निगम परियोजना के तहत शेरपुर गांव के पास निजानंद आश्रम के पास लाखों की लागत से पानी की टंकी का निर्माण कराया गया था।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:15 PM (IST) Author: Jagran

सहारनपुर, जेएनएन। जड़ौदापांडा में प्रदेश सरकार द्वारा पेयजल व्यवस्था को बेहतर बनाकर हर घर तक स्वच्छ पेयजल देने के लिए जल निगम परियोजना के तहत शेरपुर गांव के पास निजानंद आश्रम के पास लाखों की लागत से पानी की टंकी का निर्माण कराया गया था। एक माह से चार गांव के ग्रामीण पानी के लिए तरस रहे है। जल निगम गहरी नींद में सोया हुआ है। चारो गांव के ग्रामीणों ने विभाग से पानी की सप्लाई देने की मांग की है।

दो वर्ष पूर्व शेरपुर गांव के पास निजानंद आश्रम के पास लाखों की लागत से पानी की टंकी का निर्माण कराया गया था। इस टंकी से पानी की सप्लाई गांव जयपुर ,शेरपुर ,घिसरपड़ी व किशनपुरा तक जाती है। पिछले एक माह से जयुपर ,किशनपुरा ,घिसरपड़ी ,शेरपुर के ग्रामीण पानी के लिए तरस रहे है। एक माह से टंकी से पानी की सप्लाई बद है। ग्रामीण सतीश भगत ,सुरेन्द्र ,देवेन्द्र ,नरेश दरोगा ,संजू त्यागी ,संदीप त्यागी ,मांगेराम , योगेश ,विकास ,दीपक आदि ने बताया कि जल निगम की लापरवाही से चारो गांव के ग्रामीण पानी के लिए तरस रहे हैं । इसकी शिकायत कई बार विभाग से ग्रामीण कर चुंके है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नही हुई। जिसके चलते विभाग के प्रति ग्रामीणों में गहरा रोष व्याप्त है। यदि जल्द ही जल निगम के द्वारा पानी की सप्लाई शुरू नही कराई तो ग्रामीण आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। इस मामले में जल निगम के जेई पवन कुमार का कहना है कि निजानंद आश्रम के पास पाइप फट गया था जिसके कारण सप्लाई को बद करा दिया गया था। पाइप को ठीक करा दिया गया जल्द ही पानी की सप्लाई को शुरू करा दिया जायेगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.