चुनाव को देख घोषणाएं, किया नामकरण

प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव को देखते हुए अब जनता को रिझाने में भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ रही है। सहारनपुर सर्किट हाउस को अब माता सावित्री बाई फूले के नाम से जाना जाएगा। यही नहीं गागलहेड़ी से भगवानपुर तक की सड़क के चौड़ीकरण की घोषणा हुई तो इसका नामकरण भी मान्यवर काशीराम के नाम पर हो गया।

JagranPublish:Wed, 08 Dec 2021 11:22 PM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 11:22 PM (IST)
चुनाव को देख घोषणाएं, किया नामकरण
चुनाव को देख घोषणाएं, किया नामकरण

सहारनपुर, जेएनएन। प्रदेश में अगले साल होने वाले चुनाव को देखते हुए अब जनता को रिझाने में भाजपा कोई कसर नहीं छोड़ रही है। सहारनपुर सर्किट हाउस को अब माता सावित्री बाई फूले के नाम से जाना जाएगा। यही नहीं गागलहेड़ी से भगवानपुर तक की सड़क के चौड़ीकरण की घोषणा हुई तो इसका नामकरण भी मान्यवर काशीराम के नाम पर हो गया।

विधानसभा चुनाव से पहले विश्वविद्यालय का शिलान्यास गृह मंत्री अमित शाह व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया तो बुधवार को उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने 345 करोड़ की 94 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। यही नहीं जनप्रतिनिधियों द्वारा दिये गए प्रस्तावों की भी उन्होंने तुरंत घोषणा कर दी। उप मुख्यमंत्री मौर्य ने प्रदेश में सपा द्वारा छोटे-छोटे दलों से किये जा रहे गठबंधन को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि 2019 में भी सपा-बसपा व रालोद का गठबंधन हुआ था, परंतु पीएम मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने तीन सौ से अधिक सीटे जीती थीं। सहारनपुर में थोड़ी सी चूक हुई थी। 2022 में होने वाले चुनाव के लिए उन्होंने हाथ उठवाकर सातों सीटें जीतने का संकल्प दिलाया।

विकास के नाम पर चमचमाती सड़कों का जिक्र करना भी वह नहीं भूले। प्रधानमंत्री की शान में कसीदे पढ़े कि सात साल में सात छुटटी तक नहीं ली। कोरोना के खिलाफ ऐसी लड़ाई लड़ी की दुनिया ने भारत का लोहा माना।

उप मुख्यमंत्री ने ये की घोषणाएं

-मां शाकुम्भरी देवी विश्वविद्यालय को जोड़ने वाला जनता मार्ग 22 किमी का चौड़ीकरण 24 करोड़ से होगा।

-बेहट होते हुए मां शाकंभरी देवी शक्तिपीठ मार्ग का चौड़ीकरण 23 करोड़ से होगा। 16 किमी लंबाई होगी।

-फतेहपुर-मुजफ्फराबाद कलसिया 20 किलोमीटर मार्ग का चौड़ीकरण व नए सेतुओं का निर्माण 40 करोड़ की लागत से होगा।

-भगवानपुर-गागलहेड़ी मार्ग का चौड़ीकरण 13 करोड़ से होगा।

-सहारनपुर-चिलकाना-गंदेवड मार्ग का चौड़ीकरण 15 करोड़ से होगा।

-यमुना नदी पर सोंधेबांस-आल्हणपुर के मध्य सेतु निर्माण, मसखरा नदी पर पुल निर्माण होगा।