जल संचयन की आवश्यकता पर दिया बल

नानौता में जल ही जीवन है इसके बिना कोई प्राणी जीवित नहीं रह सकता। इसलिए जल संचय बहुत जरूरी है। रेन वाटर हार्वेस्टिग के लिए जहां नगर पंचायत में रिचार्ज सिस्टम लगाया गया वहीं कर्मियों द्वारा जल संचय किए जाने को लेकर शपथ ली गई।

JagranSun, 20 Jun 2021 07:23 PM (IST)
जल संचयन की आवश्यकता पर दिया बल

सहारनपुर, जेएनएन। नानौता में जल ही जीवन है इसके बिना कोई प्राणी जीवित नहीं रह सकता। इसलिए जल संचय बहुत जरूरी है। रेन वाटर हार्वेस्टिग के लिए जहां नगर पंचायत में रिचार्ज सिस्टम लगाया गया वहीं कर्मियों द्वारा जल संचय किए जाने को लेकर शपथ ली गई।

नगर पंचायत ईओ बृजेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि वाटर लेवल बढ़ाने के लिए नगर पंचायत द्वारा एक ऐसा रिचार्ज सिस्टम लगाया गया है जिससे बरसात का पानी जाली व पत्थरों से फिल्टर होकर संचय किया जा सकेगा। बताया कि भवन निर्माण करने वालों के लिए भी अब वाटर हार्वेस्टिग की शर्त अनिवार्य कर दी गई है।

उधर, नगर पंचायत चेयरमैन नसीम फात्मा द्वारा नगर के जागरूक लोगों की बुलाई बैठक में प्रतिनिधि सरफराज अख्तर मुन्ना द्वारा बरसात के मौसम में जल संचयन की आवश्यकता पर बल देते हुए इस कार्य में लोगों से सहयोग किए जाने की अपील की गई। इस दौरान अनवर खान, प्रदीप कुमार, नौशाद अंसारी, जहीर बेग, रवि कुमार, शोएब खान, सोमपाल,राजेश शर्मा,मेराज पीर जी, सुंदरलाल व अकील अहमद आदि पर उपस्थित रहे।

रैन वाटर हारवेस्टिग को लेकर गोष्ठी संपन्न

गंगोह : रैन वाटर हार्वेस्टिग को लेकर पालिका में आयोजित गोष्ठी में जल संचय करने व रैन वाटर हार्वेस्टिग का प्रयोग करने को कहा गया। इससे नगरपालिका परिषद के सभागार में आयोजित गोष्ठी में पालिका के कर इंचार्ज काशिफ कुद्दूशी ने कहा कि वर्षा जल संचयन एक तकनीक है, जिसका उपयोग भविष्य में इस्तेमाल करने के उद्देश्य के लिए अलग-अलग संसाधनों के विभिन्न माध्यमों के इस्तेमाल के द्वारा बारिश के पानी को बचा कर रखने और इकट्ठा करके रखने की एक प्रक्रिया है। इसके तहत बारिश के पानी को संचय किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि धरती पर बारिश की हर बूंद लोगों के लिए भगवान के आर्शीवाद के समान है। प्राकृतिक जल संसाधनों की कमी वाले क्षेत्रों में खासतौर से बारिश के पानी के महत्व को समझना चाहिए। छतों पर व अन्य स्थानों पर बहने वाले पानी को बिना बर्बाद किए संचय करने की कोशिश करनी चाहिए। संचय किए गए जल को अनेक जगह उपयोग किया जा सकता है। उन्होने कहा कि कस्बे में कई जगह रैन वाटर हार्वेस्टिग का प्रयोग किया जा रहा है। इस तरह से प्रत्येक व्यक्ति पानी को बर्बाद होने से रोक सकता है। कार्यक्रम को जलकल इंचार्ज शाहनवाज आदि ने भी संबोधित किया। अनेक लोग गोष्ठी में शामिल रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.