युवा भारती के मेगा शिविर में 73 यूनिट रक्तदान

दिशा भारती कालेज ऑफ मैनेजमेंट एंड एजुकेशन की सहायता से युवा भारती संस्थान द्वारा लगाए गए शिविर में मंगलवार को 73 यूनिट रक्तदान एकत्रित किया गया।

JagranTue, 21 Sep 2021 07:18 PM (IST)
युवा भारती के मेगा शिविर में 73 यूनिट रक्तदान

सहारनपुर, जेएनएन। दिशा भारती कालेज ऑफ मैनेजमेंट एंड एजुकेशन की सहायता से युवा भारती संस्थान द्वारा लगाए गए शिविर में मंगलवार को 73 यूनिट रक्तदान एकत्रित किया गया।

शिविर का शुभारंभ युवा भारती संस्थापक यशपाल भाटिया, डा. अजय सिंह, अध्यक्ष गौरव अग्रवाल ने संयुक्त रूप से किया। तत्पश्चात समिति के सदस्यों ने युवा भारती गीत देश हमें देता है। सब कुछ, हम भी तो कुछ देना सीखे प्रस्तुत किया। चेयरमैन यशपाल भाटिया ने कहा कि रक्तदान परोपकार का सर्वोतम साधन है, जैसे पूजा करने वाले हाथों से सेवा करने वाले हाथ सदैव ऊंचे होते हैं। ऐसी ही सभी मिलकर रक्तदान कर एक महान कार्य कर रहे है।

कालेज निदेशक व युवा भारती अध्यक्ष गौरव अग्रवाल ने बताया कि यह युवा भारती का 11वां रक्तदान शिविर है। प्रत्येक वर्ष युवा भारती दो बार रक्तदान शिविर का आयोजन करता है। सर्व प्रथम रक्तदान करने वालों में वैष्णवी सिरोहा, हर्ष बोध शामिल रहे तथा शिविर में 100 व्यक्तियों ने रजिस्ट्रेशन कराया जिसमे 73 यूनिट रक्तदान किया गया। इस दौरान संयम तनेजा, रोहन कपूर, भावना गोयल, वैशाली, शुभम कोरिया आदि मौजूद रहे।

देश की आर्थिक मजबूती के लिए युवाओं को करना होगा संघर्ष: भगत सिंह

बड़गांव: महेशपुर गांव में किसानों की बैठक को संबोधित करते हुए पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि कृषि प्रधान देश भारतवर्ष में आज किसान व आम आदमी भारी आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है।

देश के अन्नदाता किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी तो दूर लागत मूल्य भी सरकार नहीं मिल रहा है। युवा शक्ति को आगे आकर संघर्ष करना होगा तभी देश आर्थिक रूप से मजबूत होगा। उन्होंने कहा कि आजादी के 74 वर्षों बाद भी यह देश चंद पूंजीपतियों व पांच प्रतिशत लोगों के लिए ही आजाद है। बाकी 95 प्रतिशत लोगों को आर्थिक आजादी नहीं मिली है। आज देश का अन्नदाता किसान 21 लाख करोड रुपए का कर्ज बंद हो गया है। प्रदेश में गन्ना किसान भारी संकट में है पिछले चार वर्ष से गन्ने का रेट एक रूपया तक नहीं बढ़ाया गया है। नियम के अनुसार चीनी मिलों को 14 दिन के अंदर गन्ना किसानों को भुगतान कर देना चाहिए नहीं तो ब्याज देना चाहिए। जिले की पांच चीनी मिलों पर अभी भी गन्ना किसानों का 345 करोड़ रुपए गन्ना भुगतान बकाया है जिसमें बजाज गंगनौली चीनी मिल पर जिले में सबसे अधिक 165 करोड़ रुपये गन्ना भुगतान बकाया है। उन्होंने भाजपा सरकार से गन्ने का लाभकारी रेट? 600 कुंटल तत्काल घोषित करने की मांग की। बैठक की अध्यक्षता ठाकुर मदन सिंह संचालन पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव रविदर चौधरी गुर्जर ने किया। ठा महावीर सिंह, नरेंद्र सिंह, जय कुमार सिंह, ठा. रामवीर सिंह, सुभाष त्यागी आदि रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.