हत्या से पहले शूटरों ने खरीदा था ब्रेक ऑयल, वीडियो वायरल

सहारनपुर जेएनएन। उत्तराखंड व हरियाणा समेत कई राज्यों में भाजपा नेता के हत्यारों की तलाश में खाक छान रही पुलिस को छह दिन बाद बड़ी लीड मिली है। पुलिस को स्टेट हाईवे स्थित एक दुकान से सीसीटीवी की फुटेज मिली। इसमे एक शूटर साफ नजर आ रहा है, जो एक स्पेयर पा‌र्ट्स की दुकान से 50 रुपये का ब्रेक ऑयल खरीद रहा है। फुटेज हत्या से चंद मिनट पहले की है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। कप्तान ने शूटरों की पहचान बताने वाले को 25 हजार इनाम देने की घोषणा की है। सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जाएगी।

भाजपा पिछड़ा प्रकोष्ठ के जिला उपाध्यक्ष व सभासद चौधरी धारा सिंह की 12 अक्टूबर को रणखंडी फाटक के पास बाइक सवार दो बदमाशों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। चार दिन में देवबंद क्षेत्र में दो भाजपा नेताओं की हत्या से सहारनपुर से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मचा गया था। दोनों भाजपा नेताओं की हत्या के बाद से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व डीजीपी ओमप्रकाश सिंह डीआइजी व एसएसपी से रोजाना अपडेट ले रहे हैं। बुधवार को डीजीपी ने देवबंद में एसटीएफ की चार टीम भेज दी है। गुरुवार को हत्याकांड की जांच कर रही पुलिस और एसटीएफ को उस समय बड़ी सफला मिली जब पुलिस ने स्टेट हाईवे स्थित एक दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज को कब्जे में लिया। फुटेज में दो पल्सर सवार संदिग्ध युवक दुकान से ब्रेक ऑयल खरीदते हुए नजर आ रहे हैं। ऑयल खरीदने के करीब 15-20 मिनट बाद चौ. धारा सिंह की हत्या कर दी गई। पुलिस दोनों हत्या में वेस्ट यूपी के किसी बड़े गैंग के शूटर हाथ मानकर चल रही है।

खाकी दो राज्यों में खंगाल रही है शूटरों की कुंडली

शूटरों की पहचान के लिए पुलिस मुखबिर तंत्र की मदद भी ले रही है। उत्तराखंड व हरियाणा राज्य की पुलिस की भी मदद ली जा रही है। दोनों राज्यों के पुलिस अधिकारियों को भी पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भेज दी है। हत्याकांड के राजफाश को एसटीएफ व क्राइम ब्रांच की तीन टीमें मुजफ्फनगर में डेरा डाले हुए है। कई टीमें उत्तराखंड व यूपी बार्डर पर भी सक्रिय हैं।

इनका कहना है..

गुरुवार को दुकान से मिली सीसीटीवी फुटेज के बाद एसटीएफ व क्राइम ब्रांच समेत पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। शूटरों की सूचना देने वाले को 25 हजार का इनाम दिया जाएगा। दूसरे राज्यों की पुलिस से भी मदद ली जा रही है। जल्द हत्याकांड का राजफाश कर दिया जाएगा।

- दिनेश कुमार पी, एसएसपी।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.