कोरोना मरीजों के लिए चार हजार नए कंबल व चादरों की मांग

कोरोना मरीजों के लिए चार हजार नए कंबल व चादरों की मांग
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:24 PM (IST) Author: Jagran

सहारनपुर जेएनएन। कोरोना संक्रमण की चेन न फैले इसे देखते हुए सरकारी अस्पतालों में भी सतर्कता बरती जा रही थी। अब सर्दी की दस्तक को देखते हुए जिला अस्पताल ने नए कंबल व चादरों की खरीद के लिए खाका तैयार कर लिया है। कोरोना के कारण चादरों की अधिक डिमांड भेजी गई है, ताकि एक बार प्रयोग होने के बाद स्वच्छ होकर ही चादर मरीजों को मिले। महिला अस्पताल के साथ राजकीय मेडिकल कालेज में भी कंबल व चादर की नई खरीद की जाएगी।

जिला अस्पताल में ट्रामा, हड्डी, सर्जिकल सहित 15 वार्ड हैं और इनमें 325 से ज्यादा बेड हैं। इसी तरह महिला अस्पताल में भी इमरजेंसी व सामान्य वार्डो की संख्या भी आठ से ज्यादा है। इसके अलावा सीएचसी व पीएचसी अलग हैं। नवरात्र के बाद मौसम में हल्की ठंड का अहसास होने लगता है। इसी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने भी तैयारी शुरू कर दी है। जिला अस्पताल की मेट्रन शशि बाला ने बताया कि वह वार्ड में बेड के हिसाब से कंबल-चादर का वितरण कर देती हैं। इमरजेंसी के लिए कुछ का स्टॉक रखती हैं। सामान्य तौर पर हर साल 500 कंबल व 500 चादर खरीदे जाते हैं, क्योंकि कई एक सीजन में खराब हो जाते हैं। कोरोना काल के चलते एक मरीज के इस्तेमाल किए कंबल व चादर तब तक दूसरे मरीज को नहीं दिए जा सकते, जब तक उन्हें अच्छी तरह से स्वच्छ न करा दिए जाए। इस कारण उन्होंने इस बार चार हजार कंबल-चादर खरीद के लिए मांग पत्र भेजा है। हालांकि उधर जिला महिला अस्पताल में इस व्यवस्था को देख रहे बाबू इलम सिंह के अनुसार यहां व्यवस्था प्र्याप्त है, जरूरत पड़ी तो खरीद की जाएगी। इसी तरह राजकीय मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डा. संजीव कुमार ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में बेड से डबल कंबल-चादर हैं, यदि इसके बावजूद जरूरत पड़ी तो खरीद की जाएगी।

इनका कहना है..

कंबल-चादर की डिमांड के हिसाब से खरीद की जाएगी। मेट्रन की मांग के अनुसार बैठक कर आगे खरीद की जाएगी।

डा. एसएस लाल, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक। मेडिकल कॉलेज में कंबल-चादर पर्याप्त हैं। कोरोना संक्रमितों के उपचार के लिए लेवल टू का इकलौता कोविड अस्पताल मेडिकल कॉलेज में चल रहा है, यदि इसके बाद भी कंबल व चादर की जरूरत पड़ी तो तुरंत खरीदे जाएंगे।

डा. डीएस मार्तोलिया, प्राचार्य, राजकीय मेडिकल कॉलेज।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.