बीएलओ के कार्य में लापरवाही पर होगी एफआइआर : एसडीएम

जागरण संवाददाता, टांडा : एसडीएम ने बीएलओ के कार्य में लगे कर्मियों की लापरवाही को लेकर सख्त रुख अपनाते हुए उनके विभागों को पत्र भेजकर एफआइआर दर्ज कराने को कहा है।

एसडीएम संगम लाल यादव का बीएलओ में लगे कर्मियों के विभागों को लिखे पत्र के माध्यम से कहना है कि निर्वाचन आयोग द्वारा सत्यापन का कार्यक्रम एक सितंबर से कराया जा रहा है। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र चमरौआ में निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के रूप में 16 अक्टूबर को सुपरवाइजर के साथ बीएलओ के कार्यों की समीक्षा की। सुपरवाइजर ने अवगत कराया कि बूथों पर नियुक्त बीएलओ द्वारा ड्यूटी कटवाने का बहाना बनाकर कार्य नहीं किया जा रहा है। उनके कार्य की प्रगति शून्य अथवा बहुत कम है। आरपी एक्ट की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत कार्रवाई करते हुए एफआइआर दर्ज करने के बाद सूचित किया जाए, जिसमें नौरंगपुर बूथ की सहायक अध्यापक नीतू सिंह, प्राइमरी स्कूल अशोकपुर के सुहेल इकबाल के खिलाफ बेसिक अशिक्षा अधिकारी को पत्र लिखा है।

करनपुर बूथ पर रईस अहमद व प्राइमरी स्कूल जुठिया पर महेश बाबू दोनों रोजगार सेवकों के खिलाफ जिला पंचायत राज अधिकारी को लिखा है। स्टूडेंट एकेडमी बूथ सैजनी के प्रधान सहायक के खिलाफ अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी निर्माण खंड को लिखा है। रहमान पब्लिक स्कूल सैजनी नानकार के वरिष्ठ सहायक रविन्द्र सिंह नहर खंड के खिलाफ अधिशासी अभियंता नहर खंड को लिखा है। इसी प्रकार बूथ संख्या दो सैजनी नानकार की बाल विकास में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सीमा, स्टूडेंट एकेडमी कक्ष संख्या पांच की साजिया, स्टूडेंट एकेडमी कक्ष संख्या सात की ममता रानी, प्राइमरी स्कूल लालू नगला की विनीता सागर, प्राइमरी स्कूल नसरतनगर की अंजू लता, पहाड़पुर बिलासपुर की शांति देवी, प्राइमरी स्कूल जुठिया की गुले रुखसार के खिलाफ जिला कार्यक्रम अधिकारी को पत्र भेजकर आरपी एक्ट में एफआइआर दर्ज कराते हुए सूचित करने को लिखा है।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.