सड़क सुरक्षा सप्ताह..हर कदम पर नियमों को गच्चा

रामपुर ज्यादा नहीं महज एक महीने के आंकड़े उठाकर देख लें। हाईवे से लेकर सामान्य सड़कें

JagranFri, 23 Jul 2021 11:18 PM (IST)
सड़क सुरक्षा सप्ताह..हर कदम पर नियमों को गच्चा

रामपुर : ज्यादा नहीं, महज एक महीने के आंकड़े उठाकर देख लें। हाईवे से लेकर सामान्य सड़कें, शहर की तंग गलियों तक..बेतरतीब रफ्तार और नियमों की अनदेखी किस कदर अनमोल जिंदगियां निगल रही है। यह सब नियमों की उस छत्र-छाया में हो रहा है, जहां भारीभरकम जुर्माने की लंबी कतार है। चप्पे-चप्पे पर लोगों की जान बचाने वाले चौकीदार यानी पुलिसकर्मी खड़े हैं। यहां तक कि गाजेबाजे के साथ लागू किया गया नया मोटर व्हीकल एक्ट भी काम नहीं आ रहा है। सड़क सुरक्षा के नाम पर माह, सप्ताह जैसे कार्यक्रम साल में दो-चार बार आयोजित होते हैं लेकिन, महज रस्म अदायगी तक रहते हैं। बावजूद बिना हेलमेट, एक बाइक पर पांच से छह लोगों तक का सफर करना आम है। चार पहिया मनमानी स्पीड से फर्राटा भरते हैं। कहने को इस बार भी गुरुवार से सड़क सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत हुई है लेकिन, इन चंद तस्वीरों में उसकी हकीकत खुद देख लें। उन जिम्मेदारों की कार्यप्रणाली का नजरिया देख लें, जिनपर हादसे रोकने और लोगों को जगाने की जिम्मेदारी है। साथ ही हम खुद भी अपनी जिंदगी को लेकर कितने चिंतित हैं, इसकी बानगी भी पता चल जाएगी..।

यहां कोविड के साथ ही यातायात नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। दो पहिया वाहनों पर तीन से लेकर चार सवारियां फर्राटे भरती घूम रही हैं। लोगों ने हेलमेट और मास्क भी लगाना बंद कर दिया है। तीन सवारी वाले आटो आठ सवारियां ठूंसकर दौड़ा रहे हैं। दैनिक जागरण ने इसकी पड़ताल की तो सड़क सुरक्षा सप्ताह की पोल खुल गई। एक ओर सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाकर पुलिस और एआरटीओ के अधिकारी औपचारिकता निभाते रहे और दूसरी ओर शहर में यातायात नियमों की धज्जियां उड़ाते वाहन घूमते रहे। खास बात यह थी कि इनमें आमजन से लेकर पुलिस कर्मी तक शामिल थे।

जिलाधिकारी आवास आंबेडकर पार्क के पास है। यहां दिन भर पुलिस की ड्यूटी रहती है। बावजूद इसके जिलाधिकारी आवास के सामने से एक बाइक पर चार युवक घूमते दिखाई दिए। चारों में से किसी ने हेलमेट नहीं लगाया था और न ही मास्क पहन रखा था।

दूसरा मामला सिविल लाइंस कोतवाली के पास लोक निर्माण विभाग के निरीक्षण भवन का है। यहां स्कूटी पर तीन युवक घूमते मिले। तीनों में किसी ने हेलमेट और मास्क नहीं लगाया था। इसके अलावा चलती स्कूटी पर मोबाइल में भी व्यस्त थे। इनको न तो कोरोना संक्रमण की चिता थी और न ही हादसे का खौफ।

यही हाल डग्गामार वाहनों का रहा। हाईवे पर ही सिविल लाइंस थाने के सामने से आटो गुजरते रहे, जिसमें जबरन सवारियों को ठूंसकर भरा गया था। कुछ सवारियों को अंदर जगह नहीं मिली तो उन्हें आटो के बाहर पीछे की ओर खड़ा कर दिया गया। अधिकारी की बात

एआरटीओ सुरेंद्र सिंह ने बताया कि सड़क सुरक्षा सप्ताह में प्रत्येक दिन कार्यक्रम तय है। इसमें जागरूकता, शपथ ग्रहण, प्रदूषण को लेकर वाहन चेकिग, सीट बेल्ट और हेलमेट चेकिग के दिन तय हैं। इसके अलावा हमारे कार्यालय के स्तर से प्रत्येक सप्ताह में दो दिन सीट बेल्ट और हेलमेट को लेकर चेकिग की जाती है। यातायात नियमों को लेकर वाहन चालकों को किया जागरूक

जासं, रामपुर : सड़क सुरक्षा सप्ताह के अंतर्गत शुक्रवार को आटो, टेंपो और ई रिक्शा चालकों को जागरूक किया गया। उन्हें कोरोना संक्रमण से बचाव की भी जानकारी दी। नियमों का पालन सख्ती से करने के लिए शपथ भी दिलाई गई। इस मौके पर एआरटीओ सुरेंद्र सिंह, रोडवेज प्रबंधक कपिल वाष्र्णेय, टीएसआइ सुमित कुमार, टेंपो टैक्सी यूनियन के पदाधिकारी यासीन, गुड्डू, सोनू आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.