गंगा का जलस्तर स्थिर, खतरा बरकरार

संसू, डलमऊ (रायबरेली) : डलमऊ तहसील क्षेत्र में शनिवार को गंगा नदी का जलस्तर स्थिर हो गया लेकिन प्रभावित गांवों में अब भी बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं।

केंद्रीय जलआयोग कर्मियों की मानें तो डलमऊ में शुक्रवार सुबह गंगा के जलस्तर में 40 सेमी की गिरावट दर्ज की गई, लेकिन दोपहर जलस्तर 97.800 सेमी पर स्थिर हो गया। जलस्तर कम होने से गांवों में संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ गया है। लेकिन डलमऊ तहसील प्रशासन अनजान बना हुआ है। डूबी फसलों के आकलन में हो रही उपेक्षा

डलमऊ विकास खंड के अम्हापर, बबुरा, मोहद्दीनपुर, जहांगीराबाद, चकमलिक भीटी, पूरे रेवती ¨सह आदि क्षेत्रों में ग्रामीणों की सैकड़ों बीघा फसल बाढ़ की चपेट में आने के कारण नष्ट हो गई है, लेकिन फसल के नुकसान का आकलन नहीं हो रहा है। बबुरा गांव निवासी विशुनादेवी, चम्पा देवी, जग्गादेवी, छोटेलाल, पूतीलाल आदि ने लेखपाल पर आरोप लगाते हुए बताया कि कई भूमिहीन किसान बटाई पर खेत लेकर खेती करते हैं। लागत उनकी लगी है और मुआवजा खेत मालिक को मिलता है, जबकि फसल बोने वाले किसान को फसल का मुवावजा मिलना चाहिए। शिकायत के बावजूद तहसील प्रशासन मौन है। पशुओं को नहीं लगे टीके

गंगा का जलस्तर कम होने के कारण बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में आने वाले गांवों में पशुओं को बीमारियों से बचाव के टीके नहीं लगाए गए। इससे बीमारियां फैलने की आशंका प्रबल होने लगी है। डलमऊ के मुराई बाग स्थित पशु चिकित्सालय में तैनात चिकित्सक व बाढ़ प्रभावित गांव चकमलिक भटी में तैनात चिकित्सक जिला मुख्यालय में ही बैठकर अपनी ड्यूटी पूरी कर रहे हैं। ग्रामीण सधन, छोटेलाल, विनोद कुमार, सुनील, पप्पू, दिनेश आदि ने बताया कि पशुओं में टीकाकरण न होने से पशुओं में संक्रामक बीमारियों के फैलने का खतरा बढ़ गया है।

डलमऊ उपजिलाधिकारी जीतलाल सैनी ने बताया कि बाढ़ का पानी कम हो रहा है। बीमारियां फैलने पर रोकथाम के उपाय किए जाएंगे। फसलों के नुकसान का आकलन कराया जा रहा है। रविवार स्नान आज, तैयारियां पूरी

भाद्र माह के दूसरे रविवार के अवसर पर गंगा स्नान को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने सभी तैयारियां शनिवार को पूरी कर ली। भादौ माह के रविवार के अवसर पर गंगा स्नान कर भगवान सूर्य की उपासना का विशेष महत्व होता है। डलमऊ नगर पंचायत अध्यक्ष बृजेश दत्त गौड़ ने बताया कि रविवार स्नान को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। चेयरमैन ने स्नार्थियों से गहरे जल में स्नान न करने की अपील की है। इस अवसर पर शुभम गौड़, शोहराब अली, सुशील कुमार, सतीश कुमार, दिलीप वाजपेई सहित बड़ी संख्या में कस्बावासी मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.