तंग गलियों में तीन मंजिला व्यावसायिक कांप्लेक्स

खोवा मंडी में फाइलों तक सिमटकर रह गए विकास प्राधिकरण के नियम-कानून कहारों का अड्डा और सब्जी मंडी जैसी घनी बस्ती में भी खूब चला बिल्डरों का खेल

JagranWed, 23 Jun 2021 11:28 PM (IST)
तंग गलियों में तीन मंजिला व्यावसायिक कांप्लेक्स

रायबरेली : आठ से 10 फीट की संकरी गली। एक कार आ जाए तो, बाइक का भी निकलना मुश्किल। ऐसी गलियों में जहां लोग मकान बनवाने से पहले सैकड़ों बार सोचेंगे, वहां रायबरेली विकास प्राधिकरण ने तीन मंजिल का व्यावसायिक कांप्लेक्स खड़ा करा दिया। नजारा खोवा मंडी का है। दर्जनों की संख्या में दुकानों वाली बिल्डिग भी ऐसी, जिसमें साइकिल खड़ी करने की जगह तक नहीं। यहां बिल्डर ने आधी सड़क तक छज्जा निकाल रखा है। खोवा मंडी से कुछ आगे बढ़ने पर लखनऊ रोड पर एक तिराहा है। चौक के ठीक सामने तीन मंजिल भवन का निर्माण चल रहा है। बिल्डर ने आगे एक पुरानी दीवार छोड़ रखी थी, जिसमें तीन शटर और एक लकड़ी का दरवाजा लगा हुआ था। शायद दीवार अफसरों की आंखों में धूल झोंकने के लिए छोड़ी गई थी ताकि, कभी जांच हो तो बताया जा सके कि पुराने जर्जर निर्माण की मरम्मत हो रही है। यहां से आगे कहारों का अड्डा है। शहर के अहम चौराहों में गिना जाने वाला यह चौक भी अवैध निर्माणों से घिरा है। इनसेट

यहां तो नाले पर हो गया निर्माण

कहारों का अड्डा चौराहे पर रोड तक लोगों ने दुकानें सजा रखी हैं। इनमें से कुछ दुकानें तो ऐसी हैं, जिन्हें ध्वस्त कराने के आदेश हो चुके हैं। जिम्मेदार मामले को दबाकर बैठ गए। किला बाजार की तरफ जाने वाले रास्ते पर कई लोगों ने सरकारी नाले पर निर्माण कर रखा है। हालांकि, यह मुद्दा कई बार उठा, लेकिन अफसरों ने प्रकरण को रफा-दफा कर दिया। इनकी भी सुनें

गली में बनाई गई इमारत के बारे में जानकारी नहीं है। संबंधित अवर अभियंता से इस संबंध में बातचीत की जाएगी। इसके अलावा दूसरे जो भी निर्माण हो रहे हैं, उनकी भी जांच कराई जाएगी।

बीपी मौर्य, प्रभारी सचिव, आरडीए

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.