निजीकरण से आम जनता को भी होगा नुकसान

निजीकरण से आम जनता को भी होगा नुकसान
Publish Date:Fri, 25 Sep 2020 12:02 AM (IST) Author: Jagran

रायबरेली : ऑल इंडिया एससीएसटी रेलवे इंप्लाइज एसोसिएशन ने गुरुवार को कारखाना गेट पर निगमीकरण व निजीकरण के विरोध में प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने रेल राज्यमंत्री के निधन पर दो मिनट का मौन रखकर शोक व्यक्त किया।

एसोसिएशन के जोनल सचिव देवनाथ निर्मल की अगुवाई में कर्मचारी एकत्र हुए। कर्मचारियों का कहना है कि सरकार रेल उत्पादन इकाइयों के निगमीकरण एवं निजीकरण को लेकर पूरी तरह से प्रयासरत है। रेलवे को भी निजीकरण की ओर ले जाया जा रहा है। यदि ऐसा हुआ तो रेल कर्मचारियों के साथ आम जनता का भी भारी नुकसान होगा। सबसे सस्ती रेलयात्रा महंगी रेलयात्रा में बदल जाएगी। निजीकरण के चलते उद्योगपति रेल को अपने मुनाफे के लिए चलाएंगे। ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में जहां टिकट, भाड़ा, प्लेटफार्म टिकट आदि महंगे हो जाएंगे। वहीं रेलवे सुविधाओं पर भी असर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि यदि निजीकरण हुआ तो रेल कर्मचारियों समेत उनके परिवारजन भी सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर सुनील कुमार, सुभाष कुमार, सुशील गुप्ता, आदर्श सिंह बघेल, राजेंद्र मराठा, रामटेक, अमृतलाल, रुकमकेश मीना, आशीष श्रीवास्तव, अजय कुमार आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.