बिजली आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त, पानी को तरसे नगरवासी

- बुधवार की रात से लेकर गुरुवार शाम तक रहा संकट -बारिश के बहाने खुद का बचाव करते रहे जिम्मेदार

JagranFri, 17 Sep 2021 12:18 AM (IST)
बिजली आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त, पानी को तरसे नगरवासी

रायबरेली : तेज हवा और बारिश के कारण शहर से लेकर ग्रामीणांचल तक बिजली आपूर्ति व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। बुधवार की रात से गुरुवार की शाम तक जिला मुख्यालय पर बिजली का संकट रहा। इस कारण कई मुहल्लों में लोग पानी को तरसे। वहीं, ग्रामीण क्षेत्रों में लाखों उपभोक्ता बेहाल हैं।

नगर में बुधवार की रात करीब 10 बजे सभी सातों उपकेंद्रों की आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई। बताया गया कि बारिश के कारण 33 केवी लाइन में गड़बड़ी आ गई। काफी मशक्कत के बाद बुधवार की रात को ही इंडस्ट्रियल एरिया अमावां, प्रगतिपुरम, तेलिया कोट और आचार्य द्विवेदी नगर बिजली घर की सप्लाई बहाल हो सकी। सिविल लाइंस, राना नगर, इंदिरा नगर आदि क्षेत्रों में गुरुवार की शाम तक लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ा। लालगंज: नहर कोठी के सामने नहर पटरी पर 33 केवीए लाइन पर पेड़ गिर गया। इस कारण चार खंभे टूटकर गिर गए। जेई मुलायम सिंह यादव का कहना है कि लाइन ठीक होते ही आपूर्ति बहाल हो जाएगी। बछरावां : चक, राजामऊ और लालगंज रोड पर तार टूट गए। इस कारण समोधा, चुरुवा, जोहवासरकी, राजमाऊ सहित सभी फीडर बंद हो गए। एसएसओ कल्लोल कुमार ने बताया कि तार ठीक कराए जा रहे हैं।

डीह: मंगलवार से आपूर्ति बाधित चल रही है। बुधवार की सुबह महज कुछ देर के लिए बिजली आई थी। बिजली न आने से 22 गांवों के 50 हजार उपभोक्ता परेशान हैं। अवर अभियंता सौरभ यादव ने बताया कि डीह उपकेंद्र को आपूर्ति पहुंचाने वाली 33 केवी लाइन, 11 हजार व एलटी लाइनों पर कई जगह पेड़ गिर गए हैं। परशदेपुर में भी दो दिनों से बिजली नहीं मिल रही है।

खीरों : उपकेंद्र खीरों, सेमरी और कलुआखेड़ा से जुड़ी लगभग पौने दो लाख की आबादी दो दिनों से बिजली संकट से जूझ रही है। सीएचसी सहित सभी सरकारी कार्यालय व बैंक आदि के कामकाज पर भी इसका सीधा असर पड़ रहा है।

महराजगंज : मऊ में 11 हजार केवीए की लाइन पर पेड़ गिर जाने से आपूर्ति ठप हो गई। चंदापुर, जिहवा, राजापुर, सीवन गांवों में एक दर्जन से अधिक खंभे टूट गए हैं। जगतपुर: उपकेंद्र से जगतपुर के अलावा दीन शाह गौरा, सलोन की आंशिक ग्राम सभाओं को बिजली आपूर्ति की जाती है। लगभग 20 हजार उपभोक्ता पंजीकृत हैं। लाइन क्षतिग्रस्त होने से आपूर्ति बाधित है। ऊंचाहार : करीब 200 गांवों के 70 हजार उपभोक्ता परेशान हैं। एक्सईएन दिलीप कुमार ने बताया कि तेज बारिश के कारण 33 केवीए की लाइन फेल हो गई थी, जिसे दोपहर तक सही करा लिया गया है। कई जगह तार व खंभे टूटे हैं, जिन्हें दुरुस्त कराया जा रहा है। बारिश और तेज हवा के कारण बिजली की लाइनों में खराबी आई है। टीमें लगातार काम कर रहीं हैं। नगर की ज्यादातर लाइनों की खामी दूर हो चुकी है। ग्रामीण इलाकों में काम अभी चल रहा है।

वाइएन राम, अधीक्षण अभियंता

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.