पावर कारपोरेशन के ठेका श्रमिकों ने भरी हुंकार

-- शाम पांच से रात नौ बजे तक सीयूजी नंबर बंद रखेंगे अवर अभियंता

JagranFri, 24 Sep 2021 12:09 AM (IST)
पावर कारपोरेशन के ठेका श्रमिकों ने भरी हुंकार

रायबरेली : पावर कारपोरेशन के सिविल लाइन स्थित सर्किल ऑफिस के बाहर गुरुवार को ठेका श्रमिकों का जमावड़ा रहा। मांगें पूरी न होने से खफा कामगारों ने प्रबंधन के खिलाफ आवाज उठाई और हक मिलने तक इसी तरह आंदोलन को जारी रखने की बात कही।

निविदा संविदा कर्मचारी संघ ने इस विरोध प्रदर्शन और धरने का आह्वान किया है। संगठन मंत्री विजय कृष्ण चौरसिया ने कहा कि पावर कारपोरेशन में शोषण किया जा रहा है। 6000 से 9000 तक मानदेय देकर जोखिम भरा काम लिया जा रहा है। जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह ने ठेका प्रथा व्यवस्था खत्म कर आउटसोर्सिंग से रखे गए श्रमिकों को विभागीय संविदा में रखने पर जोर दिया। उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार ने श्रमिकों को 18000 वेतन और सरकार की ओर से समय-समय पर मिलने वाले हित लाभ दिलाने की मांग उठाई। रामकुमार, आजम खान, शमशेर बहादुर, अनुज, भूपेंद्र, जमाल, विनीत, राजीव मौजूद रहे।

तकनीकी खामियां खोजने और दूर करने में छूटा पसीना

पावर कारपोरेशन ने पूरे जिले में 950 ठेका श्रमिक 54 बिजलीघरों में रखे हैं। इन्हीं के सहारे लगभग पूरी आपूर्ति व्यवस्था रहती है। उपकेंद्रों पर कुछ सब स्टेशन आपरेटरों को छोड़ दें तो अधिकतर ठेका श्रमिक धरने में शामिल होने आए थे। इस दौरान कई लाइनों में गड़बड़ी आई, जिसे खोजने और ठीक कराने में अफसरों को पसीना छूट गया।

इनसेट-- कार्य अवधि के बाद काम करने से इन्कार

विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन के जिला सचिव जयप्रकाश ने बताया कि अभियंताओं के हित से जुड़ी मांगों को लेकर संगठन लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहा है, लेकिन प्रबंधन ने कोई ध्यान नहीं दिया। प्रचार मंत्री हेमंत मिश्र ने बताया कि विरोध के अंतर्गत ही यहां तैनात सभी अवर अभियंताओं और प्रोन्नत अभियंताओं ने खंड, उपखंड सहित इंटरनेट मीडिया के लिए बनाए गए सभी विभागीय ग्रुप आंदोलन जारी रहने तक के लिए छोड़ दिए हैं। सुबह नौ से शाम पांच बजे तक ही सरकारी कामकाज किए जाएंगे। शाम पांच से लेकर नौ बजे तक सीयूजी नंबर बंद रखे जाएंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.