उप डाकघरों में लगेंगे टावर, जमा निकासी होगी आसान

प्रतापगढ़ । डिजिटल दौर में डाक विभाग के कई उप डाकघरों में नेटवर्क के अभाव में कामका

JagranSun, 26 Sep 2021 12:04 AM (IST)
उप डाकघरों में लगेंगे टावर, जमा निकासी होगी आसान

प्रतापगढ़ । डिजिटल दौर में डाक विभाग के कई उप डाकघरों में नेटवर्क के अभाव में कामकाज ठप चल रहा था। मैन्युवल में काम हो रहा था। इससे जहां ग्राहकों को काफी समस्याएं झेलनी पड़ रही थी, वहीं कर्मियों को भी काफी फजीहत झेलनी पड़ रही थी। आए दिन नेटवर्क के अभाव में कामकाज ठप होने को लेकर हंगामा होता रहता था। इस समस्या से निजात दिलाने की कवायद चल रही है। यहां पर टावर लगाए जाने से जल्द ही समस्या दूर हो जाएगी। उम्मीद है कि एक माह के भीतर टावर लग जाएगा।

रानीगंज तहसील क्षेत्र के गौरा, सुवंसा, सदर के प्रतापगढ़ सिटी सहित आधा दर्जन उप डाकघरों में बीएसएनएल के सर्वर से काम संचालित किया जा रहा था। आए दिन बीएसएनएल की ओएफसी कटने से नेटवर्क गुल रहता था। कई दिनों तक केबल जोड़े न जाने से कामकाज प्रभावित रहता था। इससे जमा, निकासी, डाक बुकिग आदि न होने से ग्राहक हंगामा करते थे। कई बार तो वहां से नजदीक के उप डाकघरों में यह कामकाज कराया गया। आए दिन हो रही इस समस्या से जल्द ही निजात मिलने वाली है। इन डाकघरों में टावर लगाने की कवायद चल रही है। यहां से भेजे गए पत्र को मंडलीय अफसरों ने संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई शुरू कर दी थी। इन डाकघरों में टावर लगाए जाने को हरी झंडी मिल चुकी है। इससे ग्राहकों को जमा, निकासी आदि करने में आसानी होगी। प्रधान डाकघर के प्रवर डाक अधीक्षक नरसिंह ने बताया कि जल्द ही इन डाकघरों में टावर लगा दिया जाएगा।

---

साल भर से थी समस्या

इन डाकघरों में सर्वर की समस्या साल भर से थी। केवल मैन्युवल में ही काम हो रहा था। यहां पर कामकाज न होने से आसपास गांव के लोग रानीगंज, जामताली सहित अन्य डाकघरों में काम करवाने को विवश थे। हालांकि अब उनकी समस्या दूर हो जाएगी।

---

कटवा दिए कनेक्शन

सर्वर की समस्या बहाल न होने पर डाक विभाग ने बीएसएनएल का कनेक्शन कटवा दिया। बिना सर्वर के हर माह हजारों रुपये बिल के तौर पर बीएसएनएल को देना पड़ता था। इससे उनको निजात मिल गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.