अमर बलिदानी आजाद को किया याद, गूंजे देश प्रेम के नारे

प्रतापगढ़ अमर बलिदानी चंद्रशेखर आजाद को उनकी जन्म तिथि पर याद किया गया। शुक्रवार को विि

JagranFri, 23 Jul 2021 10:37 PM (IST)
अमर बलिदानी आजाद को किया याद, गूंजे देश प्रेम के नारे

प्रतापगढ़ : अमर बलिदानी चंद्रशेखर आजाद को उनकी जन्म तिथि पर याद किया गया। शुक्रवार को विभिन्न संगठनों ने उनकी मूर्ति पर माला-फूल चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी। कहा कि अंग्रेजों की बेड़ियों से भारत को मुक्त कराने के लिए आजाद का बलिदान सदा प्रेरणा देता रहेगा।

नगर के कचहरी रोड पर आजाद पार्क में उनकी मूर्ति को साफ किया गया। इसके बाद उस पर फूल चढ़ाए गए। युवा क्रांति संगठन के कार्यकर्ता पार्क में पहुंचे। भारत माता की जय के नारों से वातावरण गूंज उठा। महासचिव ऋषभ शुक्ला ने कहा कि युवा क्रांति संगठन महापुरुषों को अपना आदर्श मानता है। इस मौके पर दीपेंद्र मिश्रा, सुशील चंद्र शुक्ला, विजय भान, शरद त्रिपाठी, विवेक त्रिपाठी, अच्युतानंद पांडेय, मनीष भारती, योगेश त्रिपाठी, नीरज यादव, विकास यादव, विवेक तिवारी आदि ने भी नारे लगाए। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी श्रीराम चौराहे पर स्थित स्वतंत्रता संग्राम के वीर योद्धा आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर जिला संयोजक सुधांशु रंजन मिश्रा ने कहा कि चंद्रशेखर आजाद जी का शौर्य ऐसा था कि अंग्रेज भी उनके सामने नतमस्तक हो जाते थे। नगर मंत्री रमेश सिंह पटेल, स्टूडेंट फॉर डेवलपमेंट के जिला संयोजक अमर मणि मिश्रा ने कहा कि उन्होंने स्वतंत्रता आंदोलन को जन आंदोलन में बदलकर नई दिशा दी। विभाग संगठन मंत्री अमित देव, नगर विस्तारक प्रकाश,तहसील संयोजक अतिथि शर्मा, नगर सह मंत्री अक्षत श्रीवास्तव, नगर सदस्य रामेंद्र सोनी, एमडीपीजी कालेज इकाई अध्यक्ष सत्यम सिंह आदि भी रहे। इसी प्रकार भाजपा के तुषार खंडेलवाल, चंदन मिश्र, वागीश चंद्र मिश्रा, सचिन केसरवानी, मनीष सिंह, प्रशांत तिवारी, लाल बहादुर, सुमित केसरवानी, जगमीत सलूजा हिमांशु सिंह ने भी आजाद को याद किया।

--

सूना पड़ा रहा मतुईनमक शायर गांव

प्रतापगढ़ के जिस मतुई नमकशायर गांव में आजाद ने लंबा वक्त बिताया था, वहां उनको याद नहीं किया गया। वह इस गांव में आकर आंदोलन की रणनीति बनाते थे। अंग्रेजों को ध्वस्त करने के लिए विस्फोटक बनाते थे। क्रांति का संदेश देने को पर्चे छापते थे। इतनी गौरव गाथा से जुड़ा यह गांव न तो नेताओं को याद है, न अफसरों को। मतुई को आजाद स्मारक स्थल बनाने कीे पहल न होना हर किसी को अखरता है। जबकि पड़ोस में प्रयागराज में आजाद की जन्म तिथि को उत्सव के रूप में मनाया गया। यहां के लोगों को भी प्रयागराजवासियों से प्रेरणा लेनी चाहिए।

--

मिली प्रेरणा, रच डाला महाकाव्य

फोटो 23 पीआरटी 37

देश भक्ति के अमर प्रतीक चंद्रशेखर आजाद से प्रतापगढ़ के कवि प्रेम कुमार त्रिपाठी प्रेम बहुत प्रभावित हैं। वह उनकी जन्मस्थली से लेकर उनके कर्म क्षेत्र को कई बार देखे। उनके बारे में जाने। उनके विचारों व देश प्रेम से इतना प्रेरित हुए कि चंद्रशेखर आजाद महाकाव्य रच डाले। जन्मतिथि पर चर्चा हुई तो उन्होंने महाकाव्य की कुछ पंक्तियां पढ़कर अपनी भावनाओं को स्वर दिया..सौगंध उठाकर बोल पड़ा कि जिदा हाथ न आऊंगा। सांस चलेगी जब तक मेरी चुन-चुनकर मैं मारूंगा। इन्कलाब का नारा देकर गोरों को ललकारा था, आजाद नहीं गर भारत मां आजाद नहीं कहलाऊंगा। प्रेम ने मतुईनमक शायर को आजाद स्मारक के रूप में विकसित करने की मांग भी की।

--

कभी आजाद को भूल नहीं सकता देश

फोटो- 23 पीआरटी- 13

संसू, प्रतापगढ़ : कांग्रेस कार्यालय पर चंद्रशेखर आजाद की जन्मतिथि मनाई गई। अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष डॉ. लाल जी त्रिपाठी ने कहा कि चंद्रशेखर ने अपनी कुर्बानी देकर देश को आजादी दिलाई थी। आज के दिन ही आजाद का जन्म जन्म हुआ था। दुखद है कि आजाद को आज तक शहीद का दर्जा नहीं मिल पाया। यूथ कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. नीरज तिवारी ने कहा कि आजाद जी का परिवार मध्यप्रदेश में रहता था। उन्होंने ऐसी फौज का गठन किया था, जिसने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे। कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष महेंद्र शुक्ला ने कहा कि देश के लिए चंद्रशेखर आजाद जी के योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। इस अवसर पर वेदांत तिवारी, जमुना प्रसाद पांडेय, प्रेम शंकर द्विवेदी, चंदना शुक्ला, उत्सव भूषण पाल, फतेह बहादुर सिंह, पृथ्वीराज गौतम, रामधन यादव, राम रतन तिवारी, रमेश मिश्रा आदि रहे। संचालन आशुतोष तिवारी ने किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.