मांगों को लेकर अड़े सपा कार्यकर्ता के स्वजन

मकूनपुर / कोहंडौर जिले के कोहंड़ौर थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव में पांच सूत्रीय मांगों

JagranFri, 19 Nov 2021 09:57 PM (IST)
मांगों को लेकर अड़े सपा कार्यकर्ता के स्वजन

मकूनपुर / कोहंडौर : जिले के कोहंड़ौर थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव में पांच सूत्रीय मांगों को लेकर सपा कार्यकर्ता के परिवार के सहित अन्य लोग अंत्येष्ट न करने पर अड़ गए। बाद में एसडीएम के मांगों को पूरा करने के आश्वासन पर स्वजन अंत्येष्टि के लिए तैयार हुए।

जलालपुर गांव के रहने वाले सपा के कार्यकर्ता कन्हैयालाल यादव गुरुवार की शाम खेत की जुताई करके ट्रैक्टर लेकर लौट रहे थे। रास्ते में चंदौका गांव के पास विपक्षी ने चाकू से उन पर वार कर दिया था, प्रताप बहादुर अस्पताल ले जाने पर चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। घटना से गांव में तनाव व्याप्त हो गया था। इस बीच पोस्टमार्टम के बाद शुक्रवार को दिन में साढे़ तीन बजे शव घर लाया गया। इस दौरान आरोपितों की गिरफ्तारी, 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता व शस्त्र लाइसेंस और परिवार के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी देने की मांग पर स्वजन अड़ गए। स्वजनों ने मांगों से संबंधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। एसडीएम ने मांगों को पूरा कराने का आश्वासन दिया, तब परिवार के लोग अंत्येष्टि के लिए राजी हुए और गांव में अंतिम संस्कार कर दिया।

इस दौरान एसडीएम सदर सौम्य मिश्रा, सीओ सिटी अभय पांडेय फोर्स के साथ मौजूद रहे। सपा के जिला उपाध्यक्ष इरशाद सिद्दीकी व इरफान खान, सपा नेता संतोष यादव, सुषमा पाल , गीता यादव यादव, जगदीश मौर्य, मनीष पाल, डॉ राम बहादुर पटेल, सुरेश यादव सहित सपा नेताओं ने गोशाला को गांव से हटाने की मांग की। इस पर एसडीएम ने कहा कि गोशाला को दो दिन में हटवा दिया जाएगा। उधर, पुलिस ने गुरुवार को देर रात आरोपित प्रभात, प्रवीण समेत तीन आरोपित को गिरफ्तार कर लिया था।

-----------

अब कौन बनेगा परिवार का सहारा

संसू मकूनपुर / कोहंडौर : कन्हैयालाल यादव (55) के दो बेटे और एक बेटी हैं। बडे़ बेटे पुष्पेन्द्र यादव की शादी हो चुकी हैं। छोटे हिमांशू यादव की शादी नहीं हुई हैं। वह कोहंडौर के एक कालेज से आइटीआइ कर रहा हैं। बेटी अंजली कक्षा सात की छात्रा हैं। पूरे परिवार की जिम्मेदारी कन्हैयालाल के ही कंधों पर थी। उनकी हत्या के बाद उनका पूरा परिवार अनाथ हो गया हैं। कन्हैयालाल की पत्नी सावित्री देवी , पुत्रवधू रेखा और बेटी अंजली का रो-रोकर बेहाल थी। परिवार व पड़ोस की महिलाएं सभी को संभाल रही थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.