कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में डुबकी

मानिकपुर मानिकपुर नगर के सिद्धपीठ मां ज्वालामुखी देवी धाम परिसर में चल रहे पांच दिवसीय का

JagranFri, 19 Nov 2021 09:56 PM (IST)
कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में डुबकी

मानिकपुर : मानिकपुर नगर के सिद्धपीठ मां ज्वालामुखी देवी धाम परिसर में चल रहे पांच दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेले के मुख्य स्नान पर्व पर शुक्रवार को श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। देर शाम तक मानिकपुर सलोन, मानिकपुर सहिजनी, मानिकपुर-गोतनी समेत सभी प्रमुख मार्गों पर ट्रैक्टर, जीप, मैजिक, टेंपो, मिनी बस एवं रोडवेज बसों का जमावड़ा लगा रहा।

शुक्रवार को पांच दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेले का मुख्य स्नान पर्व था। इसे लेकर गुरुवार की सुबह से ही जनपद के साथ ही प्रयागराज, कौंशाबी, फतेहपुर, उन्नाव, कानपुर, लखनऊ, अमेठी, सुल्तानपुर, रायबरेली समेत आसपास के जिलों से श्रद्धालुओं का आगमन शुरू हो गया था। मानिकपुर रेलवे स्टेशन पर भी भक्तों की भारी भीड़ रही। देर रात लगभग सवा बारह बजे से ही भक्तों ने गंगा स्नान कर मां ज्वाला देवी का दर्शन पूजन शुरू कर दिया।

शुक्रवार को भोर में चार बजे के बाद मानिकपुर शाहाबाद गंगाघाट पर जाने वाले सभी रास्तों पर पैदल चलना मुश्किल हो गया। श्रद्धालुओं के स्नान व सिद्धपीठ मां ज्वालामुखी देवी धाम के पूजन का क्रम शुक्रवार की देर शाम तक अनवरत चलता रहा। मेला मजिस्ट्रेट एसडीएम सतीश चंद्र त्रिपाठी, एएसपी पश्चिमी रोहित मिश्रा, सीओ अर्जुन सिंह, एसओ मानिकपुर सुभाष के साथ ही छह इंस्पेक्टर, 30 एसआइ, 103 कांस्टेबल, पीएसी व महिला पुलिसकर्मी सुरक्षा को देखते हुए चप्पे चप्पे पर नजर बनाए हुए थे। मंदिर ट्रस्ट सचिव डा. विजय यादव ने बताया कि लाखों श्रद्धालु भक्तों ने गंगा स्नान कर मां भगवती का पूजन किया। वहीं कार्तिक पूर्णिमा मेले के मद्देनजर जिला प्रशासन व बिजली विभाग ने 24 घंटे निर्बाध विद्युत आपूर्ति कराने का भरोसा दिया था, लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

मुख्य स्नान पर्व की संध्या से लेकर मुख्य मेले के दिन बार-बार कटौती होती रही। वहीं मेले में भीड़ को देखते हुए मेला प्रशासन द्वारा लगाए गए भूले भटके शिविर के माध्यम से मंदिर परिसर एवं स्नान घाट समेत चार किमी की दूरी में फैले मेलार्थियों को लोगों ने मिलाया। भोर से देर शाम तक लोग अपनों को खोजते शिविर तक पहुंचते रहे। सबसे अधिक छोटे बच्चे व वृद्धाएं खो रही थीं। शिविर के माध्यम से अमेठी, सुल्तानपुर, उन्नाव, रायबरेली, कौशांबी समेत दूर-दूर से आए कई बच्चे व महिलाएं घंटों कैंप में बैठी रहीं। लगातार कैंप में ट्रस्ट सचिव डा. विजय यादव समेत सुरक्षा कर्मी कैंप से लोगों के नाम पुकारते रहे। ----------------------- चढ़ावे की निगरानी के लिए लगाए गए थे राजस्वकर्मी संसू, मानिकपुर : मानिकपुर के सिद्धपीठ मां ज्वालामुखी देवी धाम पर लगने वाले पांच दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेले में मंदिर के चढ़ावे की निगरानी के लिए एसडीएम के निर्देश पर लेखपाल उदयराज शुक्ला की अगुवाई में राजस्वकर्मियों को लगाया गया था। जो मंदिर में आने वाले चढ़ावे की निगरानी करते रहे। --------------------- महिलाओं ने खूब की खरीददारी

संसू, मानिकपुर : मानिकपुर में लगने वाले पांच दिवसीय कार्तिक पूर्णिमा मेले में कौशांबी, फतेहपुर, प्रयागराज, जौनपुर, अमेठी, गौरीगंज, सुल्तानपुर, रायबरेली समेत आसपास के कई जनपदों से आई महिलाओं ने जमकर खरीदारी की। कोई श्रृंगार का सामान खरीद रहा था तो कोई गृहस्थी का। पूरे दिन यह क्रम चलता रहा। महिलाओं की मान्यता है कि मेले में आने वाली महिलाएं जो सामान खरीदती हैं वह पूरे वर्ष चलता है और मां ज्वालामुखी के आर्शीवाद से पूरा परिवार खुशहाल रहता है। वहीं कुछ महिलाएं तो अपने हांथों में गोदना गोदवाकर निशानी भी बनवाती नजर आईं। ------------------------

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.