छह माह बाद चल सकेंगी मेडिकल कॉलेज में क्लास

छह माह बाद चल सकेंगी मेडिकल कॉलेज में क्लास

जिले को मिली राजकीय मेडिकल कॉलेज की सौगात जल्द ही आकार ले लेगी। इस पर तेजी से कार्य हो रहा है। छह महीने बाद यहां मेडिकल की पढ़ाई के लिए क्लास चलने लगेंगी। क्षेत्र के पूरेकेशवराय में मेडिकल कॉलेज में भवन बनाने का काम पूरा होने के करीब है। सबसे आगे प्रशासनिक भवन बना है। यह मुख्य मार्ग से ही नजर आता है। इसके साथ ही शैक्षणिक स्टाफ रूम लाइब्रेरी लेक्चर हॉल व कई तरह के हॉस्टल व लैब बन गए हैं।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 10:36 PM (IST) Author: Jagran

संसू, जगेशरगंज : जिले को मिली राजकीय मेडिकल कॉलेज की सौगात जल्द ही आकार ले लेगी। इस पर तेजी से कार्य हो रहा है। छह महीने बाद यहां मेडिकल की पढ़ाई के लिए क्लास चलने लगेंगी। क्षेत्र के पूरेकेशवराय में मेडिकल कॉलेज में भवन बनाने का काम पूरा होने के करीब है। सबसे आगे प्रशासनिक भवन बना है। यह मुख्य मार्ग से ही नजर आता है। इसके साथ ही शैक्षणिक, स्टाफ रूम, लाइब्रेरी, लेक्चर हॉल व कई तरह के हॉस्टल व लैब बन गए हैं। ऐसे में यह लगभग तय है कि अगस्त माह तक बाकी का काम भी हो जाएगा। कार्य की देखरेख कर रहे गनपति राजू कहते हैं कि इसे बनाकर मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया को सौंपा जाएगा। क्लास वही चलाएगी। इधर मेडिकल जाने के लिए पीडब्ल्यूडी द्वारा रोड बनाने का काम बहुत जल्दी शुरू हो जाएगा।

--

ध्वस्तीकरण का काम पूरा

जिला अस्पताल में पुराने भवन को तोड़ने का कार्य लगभग पूरा होने के करीब है। यहां पर इसी महीने में नींव भरी जा सकती है। रात दिन काम हो रहा है। मलबा भी रात भर हटाया जाता है। कायाकल्प विजेता सीएचसी के कर्मियों को मिला सम्मान

जासं, प्रतापगढ़ : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोहंडौ़र को कायाकल्प योजना के अंतर्गत मंडल में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। इस पर शनिवार को सीएचसी में सम्मान समारोह किया गया।

मुख्य अतिथि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अरविद कुमार श्रीवास्तव व विशिष्ट अतिथि जिला कार्यक्रम प्रबंधक राज शेखर रहे। संचालन नेत्र परीक्षण अधिकारी सीएम शुक्ल ने किया। इस मौके पर सीएमओ ने कायाकल्प अवॉर्ड जीतने पर सामूहिक रूप से कर्मचारियों को प्रमाण पत्र एवं पुरस्कार प्रदान किया । स्वागत अधीक्षक डॉ. भरत पाठक ने किया।

-

यह है कायाकल्प

कायाकल्प योजना के अंतर्गत अफसरों की टीम अस्पताल का निरीक्षण करती है। सफाई, दवा वितरण, मरीजों को भोजन, आपरेशन, भर्ती करने जैसे मानक का परीक्षण करने के बाद पुरस्कार की घोषणा होती है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.