ठंड बढ़ी तो गर्म वस्त्रों के कारोबार में आई तेजी

पीलीभीतजेएनए बाजार में रेडीमेड गारमेंट्स व कपड़ों की दुकानों पर गर्म वस्त्रों की रेंज तो अक्टूबर के बाद ही आ गईलेकिन तब ठंड न होने से गर्म वस्त्रों का कारोबार भी ठंडा रहा। अब ठंड बढ़ते ही गर्म वस्त्रों की मांग बढ़ गई है। बाजार में गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने के लिए लोग पहुंच रहे हैं। नवंबर के महीने का पहला पखवारा तो सामान्य रहा। दूसरे पखवारे से सुबह और शाम के समय ठंड महसूस की जाने लगी। दिन में अच्छी धूप खिलने से लोगों को गर्म वस्त्रों की ज्यादा जरूरत महसूस नहीं हो रही थीलेकिन दिसंबर की शुरुआत होते ही मौसम का मिजाज बदल गया। दो दिन से आसमान पर लगातार बादल छाए रहे। इस दौरान तापमान में भी अच्छी खासी गिरावट आई है। लोगों में गर्म वस्त्रों की मांग बढ़ गई है। शुक्रवार को शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में लोग गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने शहर पहुंचे।

JagranSat, 04 Dec 2021 12:01 AM (IST)
ठंड बढ़ी तो गर्म वस्त्रों के कारोबार में आई तेजी

पीलीभीत,जेएनए : बाजार में रेडीमेड गारमेंट्स व कपड़ों की दुकानों पर गर्म वस्त्रों की रेंज तो अक्टूबर के बाद ही आ गई,लेकिन तब ठंड न होने से गर्म वस्त्रों का कारोबार भी ठंडा रहा। अब ठंड बढ़ते ही गर्म वस्त्रों की मांग बढ़ गई है। बाजार में गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने के लिए लोग पहुंच रहे हैं। नवंबर के महीने का पहला पखवारा तो सामान्य रहा। दूसरे पखवारे से सुबह और शाम के समय ठंड महसूस की जाने लगी। दिन में अच्छी धूप खिलने से लोगों को गर्म वस्त्रों की ज्यादा जरूरत महसूस नहीं हो रही थी,लेकिन दिसंबर की शुरुआत होते ही मौसम का मिजाज बदल गया। दो दिन से आसमान पर लगातार बादल छाए रहे। इस दौरान तापमान में भी अच्छी खासी गिरावट आई है। लोगों में गर्म वस्त्रों की मांग बढ़ गई है। शुक्रवार को शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों से भी बड़ी संख्या में लोग गर्म वस्त्रों की खरीदारी करने शहर पहुंचे।

पिछले महीने तक तो गर्म वस्त्रों की ज्यादा मांग नहीं रही है लेकिन अब ठंड बढ़ जाने के कारण ग्राहक गर्म वस्त्रों की मांग करने लगे हैं। मौसम का मिजाज बदलने से अब अच्छा कारोबार होने की संभावना है।

ज्वाय मैनी, रेडीमेड वस्त्र व्यवसायी

इस बार लगभग पूरे नवंबर माह मौसम सामान्य रहा। माह के अंतिम सप्ताह में सुबह और शाम के वक्त अच्छी ठंड पड़ने लगी। अब तो ठंड में और भी बढ़ोतरी हो गई है। ऐसे में गर्म वस्त्रों की मांग भी बढ़ने लगी है।

संजीव थम्मन

इस बार सर्दी कुछ देर से शुरू हुई। दो दिन से मौसम में ठंड बढ़ गई है। ऐसे में ठंड से बचाव के लिए गर्म वस्त्रों का पहनना आवश्यक है। इसीलिए लोग खरीदारी कर रहे हैं।

अंशुल सक्सेना

गर्म वस्त्र आमतौर पर लोग पहले से नहीं खरीदते। ठंड बढ़ने पर अपनी जरूरत के हिसाब से गर्म वस्त्रों की खरीद करते हैं। अब ठंड बढ़ गई है। सभी को गर्म वस्त्रों की जरूरत महसूस हो रही।

पुरु प्रभाकर

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.