कैशियर व कानूनगो के घर से लाखों की चोरी

कैशियर व कानूनगो के घर से लाखों की चोरी

सहालग शुरू होते ही चोरों का गैंग तेजी से सक्रिय हो गया है। गिरोह रोजाना ही अलग अलग क्षेत्रों में बंद मकानों को निशाना बनाकर लाखों का माल आसानी से उड़ा रहा है। लगातार हो रही वारदातों से भी जाहिर हो रहा है कि पुलिस का कोई खौफ चोरों पर नहीं है। सोमवार की रात में भी चोरों ने बैंक कैशियर तथा कानूनगो के मकानों के ताले तोड़कर लाखों रुपये का माल पार कर दिया। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस रात में ही मौके पर पहुंच गई लेकिन चोरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी है।

Publish Date:Wed, 02 Dec 2020 12:26 AM (IST) Author: Jagran

पीलीभीत,जेएनएन : सहालग शुरू होते ही चोरों का गैंग तेजी से सक्रिय हो गया है। गिरोह रोजाना ही अलग अलग क्षेत्रों में बंद मकानों को निशाना बनाकर लाखों का माल आसानी से उड़ा रहा है। लगातार हो रही वारदातों से भी जाहिर हो रहा है कि पुलिस का कोई खौफ चोरों पर नहीं है। सोमवार की रात में भी चोरों ने बैंक कैशियर तथा कानूनगो के मकानों के ताले तोड़कर लाखों रुपये का माल पार कर दिया। मामले की सूचना मिलने पर पुलिस रात में ही मौके पर पहुंच गई, लेकिन चोरों का कोई सुराग नहीं लगा सकी है।

सदर कोतवाली क्षेत्र के माधोटांडा रोड स्थित अलीगंज बालाजी कॉलोनी निवासी शशिमंगल द्विवेदी अमरिया स्थित जिला सहकारी बैंक में कैशियर पद पर तैनात हैं। सोमवार की रात करीब नौ बजे शशिमंगल द्विवेदी का परिवार कालोनी में ही आयोजित वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने गया था। इस बीच चोरों ने उनके मकान के मेन गेट के ताले तोड़ दिए। चोर कमरों में घुस कर करीब तीन लाख की नकदी व जेवरात चुराकर ले गए। जब परिवार वाले घर लौटे तब मेनगेट खुला देख हैरान रह गए। मकान के भीतर कमरों में सारा सामान बिखरा पड़ा था। गृहस्वामी ने तत्काल घटना की सूचना पुलिस को दी। जिस पर सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक श्रीकांत द्विवेदी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। चोरों ने इसी कॉलोनी में रहने वाले तहसील सदर में तैनात कानूनगो पंकज सिंह राना के बंद मकान को भी निशाना बनाया। यहां भी मेनगेट के ताले तोड़कर चोर करीब डेढ़ लाख रुपये की नकदी और जेवरात चुराकर फरार हो गए। कानूनगो पंकज सिंह राना तथा उनके भाई का परिवार कालोनी में ही शादी समारोह में शामिल होने गए थे। मकान की पहली मंजिल पर उनके माता-पिता खिड़की दरवाजे बंद कर सो रहे थे। रात करीब 11 बजे लौटने पर उन्हें तथा परिवार के लोगों को घटना की जानकारी हो सकी। उन्होंने डायल 112 पुलिस को सूचना दी। कुछ देर बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई। लेकिन चोरों का कोई सुराग नहीं लग सका है। चोरों के सामने बौनी साबित हो रही पुलिस

शहर में त्योहारी सीजन के साथ ही चोरों का गिरोह योजनाबद्ध तरीके से वारदातों को अंजाम दे रहा है। आएदिन चोर बंद मकानों को निशाना बनाकर अपना मंसूबा पूरा कर लेते हैं, जबकि पुलिस सिर्फ कोरे दावों के सिवाय कुछ नहीं कर रही। शहर में सदर कोतवाली और सुनगढ़ी दो थाना क्षेत्र हैं। चोरों का गिरोह दोनों थाना क्षेत्रों में बारी बारी से वारदातें कर रहा है। दो दिन पहले ही सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के मुहल्ला कुंवरगढ़ निवासी न्यायिक कर्मचारी राकेश सक्सेना के पुत्र अंकित की बरात थी। पूरा परिवार सुनगढ़ी थाने के नजदीक स्थित होटल में मौजूद था। तभी चोर ताला तोड़कर मकान में घुसकर करीब दस लाख रुपये का माल लेकर फरार हो गए।इससे पहले भी राम वाटिका कालोनी, राजीव कालोनी, मुहल्ला इनायतगंज तथा साहूकारा में चोरी की वारदातें हो चुकी हैं।लेकिन पुलिस एक भी वारदात का सुराग तक नहीं लगा सकी है। बीते दिन पीड़ित लोगों ने सुनगढ़ी थाने पहुंचकर हंगामा किया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.