महिला महाविद्यालय में छिपे राज की जांच करेगी उच्चस्तरीय कमेटी

पीलीभीतजेएनएन शहर के महिला महाविद्यालय में छात्रा के साथ दुष्कर्म करने सैक्स रैकेट चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के मामले में आरोपित गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डॉ कामरान आलम खां सलाखों के पीछे पहुंच गए हैं। अब महाविद्यालय परिसर के माहौल को लेकर गंभीर शिकायतों की जांच के लिए उच्चस्तरीय कमेटी गठित कर दी गई है। यह कमेटी चार दिसंबर को यहां पहुंचकर स्थलीय जांच करेगी। माना जा रहा है कि कार्यवाहक प्राचार्य सहित कुछ अन्य पर भी कार्रवाई की संभावना जताई जा रही है।

JagranTue, 30 Nov 2021 11:09 PM (IST)
महिला महाविद्यालय में छिपे राज की जांच करेगी उच्चस्तरीय कमेटी

पीलीभीत,जेएनएन : शहर के महिला महाविद्यालय में छात्रा के साथ दुष्कर्म करने, सैक्स रैकेट चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के मामले में आरोपित गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डॉ कामरान आलम खां सलाखों के पीछे पहुंच गए हैं। अब महाविद्यालय परिसर के माहौल को लेकर गंभीर शिकायतों की जांच के लिए उच्चस्तरीय कमेटी गठित कर दी गई है। यह कमेटी चार दिसंबर को यहां पहुंचकर स्थलीय जांच करेगी। माना जा रहा है कि कार्यवाहक प्राचार्य सहित कुछ अन्य पर भी कार्रवाई की संभावना जताई जा रही है। इधर, आरोपित सहायक प्राध्यापक को निलंबित किए जाने की फाइल की औपचारिताएं पूरी कर ली गई हैं। अब फाइल पर उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा के हस्ताक्षर का इंतजार है। उच्चशिक्षा विभाग डिप्टी सीएम के पास ही है।

शहर के महिला महाविद्यालय में बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा ने विगत 21 नवंबर को गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डॉ. कामरान आलम खान के खिलाफ दुष्कर्म करने, सैक्स रैकेट चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के गंभीर आरोपों के तहत सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया। इसकी भनक लगते ही आरोपित सहायक प्राध्यापक डा. कामरान आलम खान फरार हो गया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपित सहायक प्राध्यापक की गिरफ्तारी के लिए उसके पैतृक आवास रामपुर के साथ साथ बरेली और शहर में संभावित स्थानों पर दबिश दीं, लेकिन उसका पता नहीं चला। इस बीच आरोपित सहायक प्राध्यापक की ओर से उनके अधिवक्ता ने अग्रिम जमानत के लिए जिला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में प्रार्थना पत्र दाखिल कर दिया। जिस पर कोर्ट ने सुनवाई के लिए दो दिसंबर की तिथि निर्धारित की है। पुलिस ने खासी मशक्कत के बाद पुलिस ने 26 नवंबर की शाम आरोपित सहायक प्राध्यापक को शहर के ईदगाह रेलवे क्रासिग के पास गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद चिकित्सकीय परीक्षण कराकर रिमांड मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। वहां से उसे न्यायिक हिरासत में जिला कारागार भेज दिया गया। आरोपित सहायक प्राध्यापक की ओर से मंगलवार को भी कोर्ट में किसी तरह की अर्जी दाखिल नहीं की गई है।

महाविद्यालय में चार दिसंबर को आएगी उच्चस्तरीय कमेटी

गणित विषय के सहायक प्राध्यापक डॉ. कामरान आलम खान के खिलाफ बीएससी द्वितीय वर्ष की छात्रा ने दुष्कर्म करने, सैक्स रैकेट चलाने तथा काला जादू का भय दिखाने के गंभीर आरोप के तहत मुकदमा दर्ज किए जाने के बाद महिला महाविद्यालय के माहौल को लेकर शिकायतें की गई हैं। शासन स्तर पर इसे गंभीरता से लिया गया है। खासकर शासन के उच्च शिक्षा सचिव शमीम अहमद खान ने प्रकरण की बाबत दैनिक जागरण की खबरों का संज्ञान लेते हुए निदेशक उच्च शिक्षा डॉ. अमित भारद्वाज को कड़ी कार्रवाई किए जाने तथा महाविद्यालय में अविलंब महिला स्टाफ की नियुक्ति करने का निर्देश दिया। जिसके बाद उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारी हरकत में आ गए हैं। निदेशक के आदेश पर क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डा.संध्या रानी ने महाविद्यालय परिसर के माहौल की जांच के लिए टीम गठित कर दी है। इस कमेटी में क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डॉ. संध्या रानी, राजकीय महिला महाविद्यालय बदायूं की प्राचार्या डॉ. स्मिता जैन व अवंतीबाई राजकीय महिला महाविद्यालय बरेली की प्राचार्या डॉ. मनीषा राव को शामिल को शामिल किया गया है। यह कमेटी चार दिसंबर को महाविद्यालय में स्थलीय जांच करेगी। महिला महाविद्यालय के मामले में कार्रवाई चल रही है। विशेष सचिव के स्तर से फाइल आगे बढ़ा दी गई है। जल्द से जल्द सभी औपचारिकताएं पूरी कर आदेश जारी कर दिए जाएंगे।- शमीम अहमद खान, सचिव, उच्च शिक्षा उच्च शिक्षा निदेशक के आदेश पर महाविद्यालय में मामले की स्थलीय जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। समिति चार दिसंबर को महाविद्यालय जाकर सभी पहलुओं पर जांच करेगी। इसके बाद रिपोर्ट उच्च शिक्षा निदेशक प्रयागराज को भेज दी जाएगी।

- डा. संध्या रानी, क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.