हाईवे पर जलभराव से निकलना दुश्वार

बरेली-हरिद्वार नेशनल हाईवे (30) पर कस्बा सीमा में सड़क काफी दिनों से बदहाल है। अनेक स्थानों पर गड्ढे हो गए हैं। पिछले दिनों हुई बारिश का पानी सड़क पर भरा है। पूरी सड़क तालाब जैसी दिखती है। सड़क के गड्ढों में पानी भरा होने के कारण चालक अंदाजा नहीं लगा पाते। ऐसे में उनके वाहन फंस जाते हैं। कई राहगीर गड्ढों में फंसकर दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। काफी समय से नहर पुल से लेकर रामलीला मैदान तक सड़क पूरी तरह खस्ताहाल बनी हुई है।

JagranMon, 14 Jun 2021 10:54 PM (IST)
हाईवे पर जलभराव से निकलना दुश्वार

पीलीभीत,जेएनएन : बरेली-हरिद्वार नेशनल हाईवे (30) पर कस्बा सीमा में सड़क काफी दिनों से बदहाल है। अनेक स्थानों पर गड्ढे हो गए हैं। पिछले दिनों हुई बारिश का पानी सड़क पर भरा है। पूरी सड़क तालाब जैसी दिखती है। सड़क के गड्ढों में पानी भरा होने के कारण चालक अंदाजा नहीं लगा पाते। ऐसे में उनके वाहन फंस जाते हैं। कई राहगीर गड्ढों में फंसकर दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। काफी समय से नहर पुल से लेकर रामलीला मैदान तक सड़क पूरी तरह खस्ताहाल बनी हुई है। पिछले दिनों गड्ढों को भरने का कार्य कराया गया लेकिन चंद दिन बाद ही सड़क के गड्ढे फिर खुल गए , जिससे सफर करना मुश्किल बना हुआ है। कस्बा में हाईवे किनारे दुकानों के सामने जलभराव होने से ग्राहकों को दुकानों पर सामान खरीदने जाना दूभर है। उन्हें पानी में घुसकर जाना पड़ रहा है।

कस्बा में हाईवे की सड़क काफी समय से जर्जर है। गड्ढों में सफर करना मुश्किल होता है। बारिश का पानी भरने से सड़क तालाब बन जाती है। खराब सड़क के कारण निकलने में दिक्कतें होती है।

हाजी सादिक रजा नहर पुल से लेकर रामलीला मैदान तक सड़क पिछले काफी समय से खस्ताहाल है। सड़क पर गहरे गड्ढे बने हुए हैं। जिससे आवागमन में मुश्किलें आती हैं

राकेश कुमार कस्बा में हाईवे के साथ ही क्षेत्र में कई सड़कें खस्ताहाल होने से चलने लायक नहीं हैं। मजबूरी में लोग सफर करते हैं। थोड़ी बरसात होने पर सड़कें तालाब का रूप ले लेती है।

फहमीद खां हाईवे किनारे दोनों साइड में एनएचआइ विभाग की ओर से नाला का निर्माण कार्य किया जा रहा है। जल्द ही जलभराव की समस्या से निजात मिलेगी।

-रामदास, उपजिलाधिकारी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.