सरोश व सुशील ने किया को-विन पोर्टल का संचालन

सरोश व सुशील ने किया को-विन पोर्टल का संचालन

कोविड-19 टीकाकरण के लिए आधार बने को-विन पोर्टल को संचालित कर टीकाकरण सफल बनाने में दो कर्मियों की अहम भूमिका रही। को-विन पोर्टल पर डाटा अपलोड करने से लेकर टीकाकरण सूची तैयार करने व पोर्टल पर सारी सूचना अपडेट करने का काम इन्हीं दोनों कर्मियों द्वारा किया गया। स्वास्थ्य विभाग के टेक्निकल हैंड्स के रूप में जिला वैक्सीन एवं कोल्ड चेन प्रबंधक सरोश खान व डाटा एंट्री ऑपरेटर सुशील कुमार पाल ने योगदान दिया। दोनों ने मिलकर कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की रूपरेखा को ऑनलाइन माध्यम से सरल सुगम व बेहतर बनाया।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 11:36 PM (IST) Author: Jagran

पीलीभीत,जेएनएन: कोविड-19 टीकाकरण के लिए आधार बने को-विन पोर्टल को संचालित कर टीकाकरण सफल बनाने में दो कर्मियों की अहम भूमिका रही। को-विन पोर्टल पर डाटा अपलोड करने से लेकर टीकाकरण सूची तैयार करने व पोर्टल पर सारी सूचना अपडेट करने का काम इन्हीं दोनों कर्मियों द्वारा किया गया। स्वास्थ्य विभाग के टेक्निकल हैंड्स के रूप में जिला वैक्सीन एवं कोल्ड चेन प्रबंधक सरोश खान व डाटा एंट्री ऑपरेटर सुशील कुमार पाल ने योगदान दिया। दोनों ने मिलकर कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम की रूपरेखा को ऑनलाइन माध्यम से सरल, सुगम व बेहतर बनाया।

लाभार्थी स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा एकत्र करना, उसे को-विन पोर्टल पर अपडेट करना, पहले सेशन के लिए ड्यू लिस्ट तैयार करना, सभी लाभार्थियों तक मैसेज की पहुंच सुनिश्चित कराना व टीकाकरण के उपरांत सभी कर्मियों की स्थिति अपडेट करने जैसे सभी ऑनलाइन कार्य दोनों कर्मियों द्वारा किए गए। को-विन पोर्टल का प्रयोग होने से कोविड-19 टीकाकरण की पूरी प्रक्रिया पारदर्शी व सुलभ बनी। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. सीएम चतुर्वेदी ने बताया कि सरोश व सुशील के सहयोग से शासन की गाइडलाइन के अनुसार को-विन पोर्टल की सभी गतिविधियों को विधिवत ढंग से संचालित किया जा सका। दोनों कर्मियों ने पूरी तत्परता के साथ टीकाकरण से संबंधित प्रत्येक कार्य किया। पूरनपुर : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कोविड 19 का वैक्सीनेशन होने के दौरान अव्यवस्थाएं मिलने पर सीएमओ ने नाराजगी जताई। उधर एक कर्मी को वैक्सीन लगने के बाद कुछ बेचैनी महसूस होने पर इलाज किया गया। अव्यवस्थाओं का सुधार कराकर अनाधिकृत प्रवेश पूरी तरह से रोकने के निर्देश दिए।

शनिवार को कोविड 19 को लेकर अधिकारियों ने व्यवस्थाओं के साथ टीकाकरण करने के निर्देश दिए थे। सीएचसी में टीकाकरण के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सीमा अग्रवाल और एसीएमओ डॉ. सीएम चतुर्वेदी को कई अव्यवस्थाएं मिली। जिस जगह वेटिग रूम बनाया गया था वहां तैनात सिपाही से कुछ दूरी पर सैनिटाइजर और मास्क रखे गए थे। टीकाकरण के लिए गेट पर पर्दा लगा होना चाहिए था लेकिन वह एकांत रखा हुआ था। निगरानी रूम में टीकाकरण कराने के दौरान कर्मचारी एक साथ बैठे हुए थे। निगरानी रूम में सीएमओ ने रजिस्टर को चेक करने के बाद दो गज के फासले से कुर्सियों को डलवाया। बैनर और पोस्टर देखे। एक स्वास्थ्य कर्मी को टीकाकरण के दौरान बेचैनी हुई। इसपर उसका इलाज किया गया। एमओआईसी डॉ. प्रेम सिंह राजपूत ने बताया कि कर्मचारी का पहले से ही ब्लेड प्रेशर बढ़ा हुआ था, इसलिए उसे बेचैनी हो रही थी। कुछ देर में सुधार हो गया। सीएमओ ने बताया कि कुछ अव्यवस्थाएं पाई गई थी जिसका सुधार करा दिया गया है। बाकी सभी ठीक पाया गया है। जिले में सबसे पहले कोविड की वैक्सीन एमओआइसी को लगने की सूचना मिली है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.