बाइक बोट घोटाले में विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

बाइक बोट घोटाले में विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज

जागरण संवाददाता ग्रेटर नोएडा बाइक बोट घोटाले की आंच राजस्थान की नदबई विधानसभा सीट स

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 10:46 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, ग्रेटर नोएडा:

बाइक बोट घोटाले की आंच राजस्थान की नदबई विधानसभा सीट से विधायक जोगिंदर अवाना तक पहुंच गई है। घोटाले के पीड़ितों द्वारा दायर की गई याचिका पर सुनवाई के बाद जिला न्यायालय ने विधायक जोगिंदर अवाना समेत 58 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। पुलिस ने सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मामले में अन्य राजनीतिक लोगों के नाम भी सामने आ सकते हैं। पीड़ितों ने न्यायालय में आरोप लगाया है कि बाइक बोट के मुख्य दफ्तर पर फौजियों को देने के लिए रक्तदान शिविर लगाकर खून बेचा जाता था। गौरतलब है कि बाइक बोट घोटाले में लाखों लोगों से अरबों रुपये की ठगी की गई थी।

अधिवक्ता आशुतोष शर्मा ने बताया कि मुजफ्फरनगर निवासी विकास बालियान समेत 632 पीड़ित निवेशकों ने आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज करने की शिकायत पुलिस को दी थी। मामला दर्ज न होने पर न्यायालय में याचिका दायर की थी। मामले की सुनवाई के बाद न्यायालय ने घोटाले के मुख्य आरोपित संजय भाटी, विधायक जोगिंदर अवाना, सचिन भाटी, आदेश भाटी, विदेश भाटी, दीप्ति बहल, पवन भाटी, राजेश भारद्वाज, करनपाल सिंह, विजयपाल कसाना, भूदेव सिंह, पुष्पेंद्र सिंह, लोकेश सिंह, बीएन तिवारी, बिजेंद्र हुड्डा, रीता चौधरी, अमित सिरोही, जितेंद्र सिरोही, सोहनवीर सिंह, बृजमोहन, संजय बोरा, विनोद कुमार, नरेंद्र, वीरेंद्र मलिक, नरेंद्र तेवतिया, ध्रुव भारद्वाज, देवेंद्र, अनीस उर रहमान, बलवंत सिंह, तरुण शर्मा, नदीम फारूख, संजय गोयल, देव राठौर, ललित कुमार, विशाल कुमार, रोहित भाटी, बिहारी गुप्ता, मयंक बलराम, हरनून राजा, नागेंद्र कुमार, रुखसार, अजरा, संजीव, राजकुमार देवी, बबिता देवी, सुनील कुमार, प्रियंका देवी, सनी भारद्वाज, धर्मेंद्र भारद्वाज, शिखा विश्वास, सायना, आरिफ, विनोद चौहान, रिकू मित्तल, जयवीर पांचाल, अतुल ठाकुर, पुष्पेंद्र कुमार, सीईओ नोबल कॉपरेटिव बैंक पर केस दर्ज करने के आदेश हुए हैं। न्यायालय ने जिन लोगों पर एफआइआर दर्ज करने का आदेश दिया है उनमें से कुछ के खिलाफ पहले से मामला दर्ज है, साथ ही कुछ जेल में भी हैं। कई ऐसे नाम हैं जिनके खिलाफ अभी मामला दर्ज नहीं है। इस संबंध में विधायक जोगिंदर अवाना का कहना है कि विरोधी लोगों द्वारा साजिश के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है। घोटाले से उनका दूर-दूर तक कोई संबंध नहीं है। पूर्व में मैं बसपा में था। उस दौरान घोटाले के मुख्य आरोपित संजय भाटी भी पार्टी में ही थे। पार्टी के कार्यक्रमों में उनका आना-जाना था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.