नोएडा-ग्रेटर नोएडा के लोगों के लिए राहत, ESIC अस्पताल में जल्द शुरू होगी आरटीपीसीआर जांच

अस्पताल में पैथोलाजी लैब मशीन स्थापन के लिए मुख्यालय के पास प्रस्ताव भेज दिया गया है।
Publish Date:Wed, 28 Oct 2020 02:45 PM (IST) Author: JP Yadav

नोएडा [मोहम्मद बिलाल]। Noida Coronavirus Cases Updates: दिल्ली से सटे नोएडा सेक्टर-24 स्थित कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआइसी) अस्पताल में कोरोना संदिग्धों की रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पालिमरेस चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) जांच की जाएगी। प्रबंधन इसके लिए जीन एक्सपर्ट मशीन खरीदेगा। मशीन मिलने के बाद भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) से अनुमति लेकर जांच शुरू की जाएगी।

चिकित्सा निदेशक डॉ. बलराज भंडार ने बताया कि अस्पताल में पैथोलाजी लैब मशीन स्थापन के लिए मुख्यालय के पास प्रस्ताव भेज दिया गया है। वहीं कोविड वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. ब्रहमनीश सितारा ने बताया कि मशीन लगने के बाद आरटी पीसीआर जांच के लिए मरीजों को इंतजार नहीं करना पड़ेगा। अबतक प्रतिदिन जांच के दौरान 40 से 50 लोग की एंटीजन व पांच से 10 लोगों के आरटी पीसीआर जांच के लिए नमूने लिए जाते हैं।

एंटीजन रिपोर्ट 10 मिनट में आने के बाद पॉजिटिव में मिले व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती करके इलाज किया जाता है। वहीं आरटी पीसीआर नमूनों को राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) भेजा जाता है। जहां से रिपोर्ट प्राप्त होने में करीब दो दिन का वक्त लगता है। मशीन लगने के बाद किसी भी प्रकार का सैंपल स्वास्थ्य विभाग की लैब नहीं भेजा जाएगा। अबतक 2 हजार लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। जांच में 125 लोग पॉजिटिव मिले हैं। वर्तमान में सिर्फ 9 मरीज भर्ती है। इलाज के दौरान 10 मरीजों की मौत हुई है।

 

रैपिड एंटीजन टेस्ट

यह जांच रैपिड किट से होती है, जिससे कोरोना पॉजिटिव व नेगेटिव का रिजल्ट अधिकतम 15 मिनट में पता किया जा सकता है। थ्राट से स्वाब लेने के बाद उसे बफर कर तीन बूंद किट में डालने के बाद किट की गहरी लाल लाइन होने पर पाजिटिव परिणाम आता है। अगर लाइन गहरी लाल नहीं हुई तो नेगेटिव मान लिया जाता है।

 

एंटी बॉडी टेस्ट

एंटी बॉडी टेस्ट ब्लड सैंपल लेकर किया जाता है। एंटी बॉडी टेस्ट का सीरो सर्विलेंस के दौरान सर्वे में किया जाता है। ऐसे लोग जिन्हें कोरोना संक्रमण सही भी हो गया और उन्हें पता ही नहीं चला। ऐसे लोगों के शरीर में एंटीबॉडी विकसित होने से पता लगता है कि वे कोरोना पॉजिटिव हो चुके।

 

आरटी पीसीआर टेस्ट

रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन पॉलिमरेस चेन रिएक्शन (आरटी पीसीआर) जांच के लिए थ्राट से स्वाब लिया जाता है। जांच रिपोर्ट में अधिकतम 24 घंटे का समय लगता है। रिपोर्ट हर जगह मान्य होती है। एंटीजन पाजिटिव आने के बाद भी कन्फर्म करने के लिए यह जांच जरूरी होती है।

 

 डॉ. बलराज भंडार (निदेशक चिकित्सा, ईएसआइसी अस्पताल) का कहना है कि अभी आरटी-पीसीआर जांच के लिए सैंपल जिम्स भेजा जाता है। मशीन लग जाने के बाद जांच में काफी सुविधा होगी। रिपोर्ट के लिए लोगों को ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.