कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना पर शिकंजा कसते ही पत्नी पूजा ने चुनाव लड़ने से किया इनकार

कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना की पत्नी पूजा

Gautam Budh Nagar Zila Panchayat Election 2021 जिला पंचायत के वार्ड नंबर 2 से दावेदारी पेश करने वाली अनिल दुजाना की पत्नी के रातों रात पोस्टर उतर गए हैं। दरअसल गवाह को धमकी देने पर अनिल दुजाना के खिलाफ ग्रेटर नोएडा में पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

Mangal YadavWed, 07 Apr 2021 03:10 PM (IST)

ग्रेटर नोएडा [प्रवीण विक्रम सिंह]। बादलपुर के दुजाना गांव के रहने वाले कुख्यात गैंगस्टर अनिल दुजाना पर गवाह को धमकी देने का आरोप लगा है। अनिल दुजाना के खिलाफ धमकी देने के मामले में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं अनिल दुजाना पर मुकदमा दर्ज होते ही पंचायत चुनाव रोचक होता नजर आ रहा है। पूर्व में वार्ड नंबर दो से जिला पंचायत सदस्य की दावेदारी ठोंकने वाली अनिल दुजाना की पत्नी पूजा ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है। चुनाव नहीं लड़ने की पुष्टि अनिल के अधिवक्ता जितेंद्र नागर ने की है। पुलिस का शिकंजा कसते ही राजनीति के गलियारों में दावेदारों का चेहरा बदलता नजर आ रहा है। बदमाश की पत्नी के चुनाव नहीं लड़ने पर कई अन्य दावेदार वार्ड नंबर दो से दावेदारी पेश कर सकते है।

बता दें कि गौतमबुद्धनगर में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए बुधवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई है। 11 अप्रैल को नाम वापसी के लिए आखिरी दिन है। चुनाव 19 अप्रैल को होगा। वोटों की गिनती दो मई को होगी।

वहीं, बादलपुर कोतवाली में अनिल के खिलाफ दर्ज कराए गए मुकदमें में संगीता निवासी गांव खेड़ी ने कहा है कि बीते चार अप्रैल को वह निजी काम से कार में सवार होकर कूड़ी खेड़ा की तरफ जा रही थी। तभी कार से अनिल व उसके साथी आए और पति की हत्या के मामले में पैरवी नहीं करने के लिए कहा। संगीता पति की हत्या के मामले में गवाह है। गवाह को अनिल ने धमकी दी कि पैरवी करने पर वह उसको जान से मार देगा।

इस मामले में संगीता है गवाह

संगीता के पति जयचंद खेड़ी गांव के प्रधान के थे। वर्ष 2011 में दादरी में रेलवे रोड पर जिम से निकलते ही जयचंद की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप अनिल दुजाना पर है। आरोप है कि वह पल्सर बाइक पर सवार होकर आया था और गोलियों से जयचंद को झलनी कर मौके से फरार हो गया था। मामले में अनिल के खिलाफ संगीता ने मुकदमा दर्ज कराया था। दस साल से मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

यह था हत्या का कारण

वर्ष 2011 में सरिया चोरी को लेकर सुंदर भाटी व अनिल दुजाना के बीच दुश्मनी शुरू हुई। दोनों गिरोह का काम सरिया चोरी का है। इस काम में वर्चस्व को लेकर शुरू हुई दुश्मनी में जयचंद की हत्या की गई। बादलपुर में सुंदर गिरोह सक्रिय होने लगा था। यह बात अनिल को नागवार गुजरी थी।

बादलपुर कोतवाली प्रभारी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि जयचंद की हत्या के मामले में उसकी पत्नी संगीता गवाह है। आरोप है कि उसको अनिल ने केस में पैरवी नहीं करने को लेकर धमकी दी है। शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.