top menutop menutop menu

Noida Weather News: नोएडा-ग्रेटर नोएडा में गर्मी से लोग बेहाल, पारा पहुंचा 44 के पार

नोएडा [मोहम्मद बिलाल]। नोएडा-ग्रेटर नोएडा के लोगों को भीषण गर्मी के साथ लू से राहत नहीं मिल पा रही है। तीसरे दिन भी सोमवार को अधिकतम पारा 44 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया। यह मई के सामान्य तापमान से पांच डिग्री अधिक था। वहीं न्यूनतम पारा भी 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया। 

दिन में गर्म हवाओं ने लोगों का सुकून छीन लिया। दोपहर में घर से बाहर निकलने पर लोगों को तपन महसूस हुई। गाड़ी चलाने वाले लोगों को लग रहा था कि आग के आगे उनका हाथ है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में दिन का तापमान अधिकतम 44 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया जो कि मई के सामान्य तापमान से पांच डिग्री अधिक था। वहीं न्यूनतम पारा भी 27.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया।

मौसम वैज्ञानिकों ने आगामी 28 मई तक मौसम शुष्क रहने और भीषण गर्मी व लू का प्रकोप जारी रहने की संभावना व्यक्त की है। 29 मई के बाद मौसम पलटेगा एवं हल्की बूंदाबांदी होने से तापमान में गिरावट आने की संभावना है। रविवार सुबह सूर्याेदय के साथ ही धूप का प्रभाव बढ़ना शुरू हो गया। दोपहर 12 से तीन बजे के बीच बदन झुलसाने वाली तेज धूप व लू का प्रकोप रहा।

मई के आखिर में राहत की उम्मीद

स्काईमेट वेदर के मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, भीषण गर्मी से 29-30 मई को कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। उस दौरान उत्तर भारत के पहाड़ों पर एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ आएगा। उत्तरी मैदानी भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बनेगा। जिससे दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में धूल भरी आंधी के साथ बारिश होने की संभावना है। हालांकि जून में एक बार फिर से अधिकतम पारा 47 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है।

रियायतें मिलते ही प्रदूषण भी बढ़ा

मार्च के आखिरी सप्ताह से लागू लॉकडाउन के चलते शहर में प्रदूषण के स्तर में व्यापक सुधार हुआ था। शहर की आबोहवा संतोषजनक श्रेणी पहुंच गई थी। लोगों ने राहत की महसूस की थी। लेकिन लॉकडाउन-4 में कुछ रियायतें दी गईं। जिसके परिणामस्वरूप यातायात में वृद्धि हुई और कारखानों में उत्पादन शुरू हुआ है। साथ ही निर्माण कार्य भी शुरू होने लगे है। इसके चलते शहर में पिछले दिनों की तुलना में प्रदूषण अब मध्यम श्रेणी में दर्ज किया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः Ghaziabad Weather News: गर्मी से लोगों को कब मिलेगी राहत, पढ़िए IMD की भविष्यवाणी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.