top menutop menutop menu

Positive India: यूपी के कुशलपाल ने पेश की मिसाल, 50 लोगों का रूम रेंट किया माफ

नोएडा, एएनआइ।  Noida LockDown Updates Day 6: कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रभाव और खतरे के बीच दिल्ली से सटे नोएडा के रहने वाले कुशलपाल ने इंसानियत की एक मिसाल पेश की है। उन्होंने अपने किरायेदारों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनका पूरा किराया माफ कर दिया है।

समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक, बरोला निवासी कुशलपाल ने अपने 50 किरायेदारों का किराया माफ कर दिया है और साथ ही सभी से गुजारिश की है कि वे इस कठिन दौर में वापस अपने गृह प्रदेश नहीं जाएं।

किरायेदारों में बांटा आटा

इतना ही नहीं, कुशलपाल ने अपने सभी किरायेदारों के साथ अपने ड्राइवर और सुरक्षा गार्ड को आटे के पैकेट भी दिए। साथ ही उन्होंने अपने किरायेदारों को हर तरह की मदद का भी आश्वासन दिया है। कुशलपाल का कहना है कि सैकड़ों किलोमीटर दूर अन्य प्रदेश से आए लोग जाहिर है इस समय संकट में हैं और उससे ज्यादा डरे हुए हैं। 

कुशलपाल की पहल ला सकती है रंग

बताया जा रहा है कि कुशलपाल का यह प्रयास आने वाले दिनों में अन्य मकान मालिकों के लिए भी प्रेरणा का सबब बन सकता है, क्योंकि इस मुश्किल समय में कामगारों और मजदूरों का दिल्ली-एनसीआर छोड़कर जाना उनके स्वास्थ्य के साथ-साथ उद्यमियों के लिए भी हितकर नहीं है।

उद्योग-धंधे हो सकते हैं प्रभावित

उद्योग जगत से जुड़े जानकारों की मानें तो मजदूर वर्ग का इस तरह हजारों की संख्या में पलायन उद्योगों की कमर तोड़ सकता है। एक ओर जहां पहले से ही आर्थिक सुस्ती का दौर जारी है, ऊपर से लॉकडाउन खत्म होने के तुरंत बाद काम नहीं शुरू हुआ तो सभी वर्गों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

इससे पहले रविवार को विपिन मल्हन (अध्यक्ष,नोएडा एंटरप्रेन्योर एसोसिएशन) ने भी लोगों से नोएडा ग्रेटर नोएडा नहीं छोड़कर जाने की अपील की थी, साथ ही कहा था कि उन्हें खाने-पीने की दिक्कत नहीं होने दी जाएगी।

बता दें कि आगामी 14 अप्रैल तक दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे भारत में लॉकडाउन है। इस दौरान लोगों से कहा गया है कि कारोना वायरस के फैलाव को देखते हुए अपने घरों में रहें। इसी के साथ परेशानी होने पर राज्य सरकार के साथ केंद्र सरकार की ओर से भी हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.