नोएडा होमगार्ड वेतन घोटाला : दफ्तर में आग लगने के मामले में FIR दर्ज, 3 संदिग्ध हिरासत में

नोएडा [रजनी कान्त मिश्र]।  ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर स्थित होमगार्ड कार्यालय में आग लगने के मामले में तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। तीनों संदिग्ध होमगार्ड हैं। पुलिस तीनों से पूछताछ कर रही है। इस मामले में इंस्पेक्टर सूरजपुर जितेंद्र सिंह की तरफ से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

दरअसल फर्जी मस्टररोल तैयार कर गौतमबुद्धनगर में होमगार्डों के वेतन में हुए लाखों के घोटाले की जांच के बीच सूरजपुर स्थित जिला होमगार्ड कार्यालय के एक बक्से में सोमवार रात आग लग गई। आग में उस बक्से में रखे सभी कागजात जलकर खाक हो गए।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने कहा कि सोमवार रात में आग केवल एक बक्से में ही लगी है। 2014 के बाद के मस्टर रोल उस बक्से में रखने की बात सामने आ रही है व वही जले हैं। मंगलवार सुबह विभाग की तरफ से पुलिस अधिकारियों को आग की जानकारी दी गई। आग कैसे लगी या लगाई गई इस पूरे मामले की जांच की जा रही है। उधर, मुख्य अग्निशमन अधिकारी अरूण कुमार सिंह ने कहा कि मंगलवार सुबह के समय ही आग की जानकारी मिली है। आग कैसे लगी इसकी जानकारी नही है।

मालूम हो कि एसएसपी वैभव कृष्ण से जुलाई माह में एक होमगार्ड ने फर्जीवाड़ा कर होमगार्डो के डयूटी का फर्जी मस्टररोल तैयार कर भुगतान की शिकायत की थी। एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी विनीत जायसवाल ने प्राथमिक जांच शुरू की। केवल मई व जून माह की शहर की सात कोतवाली की हुई जांच में ही बड़े स्तर पर डयूटी के मस्टररोल में गड़बड़ियां मिली थी, सात लाख से अधिक फर्जी भुगतान पकड़ा गया।

फर्जी मस्टररोल तैयार कर हुए भुगतान में करीब 50 फीसद से अधिक फर्जी डयूटी पकड़ी गई थी, जबकि कोतवाली में काम करने वाले होमगार्ड की फर्जी मस्टर रोल बनाने में फर्जी मोहरों के इस्तेमाल की बातें सामने आई थी। जिसके बाद एसएसपी ने इस प्रकरण की शिकायत शासन स्तर पर की थी। फर्जीवाड़े की जांच के लिए शासन स्तर से एक कमेटी गठित की गई थी व उस कमेटी ने भी जांच किया। 13 नवंबर को इस प्रकरण में कोतवाली सूरजपुर में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में एफआइआर दर्ज की गई थी। इसके बाद से ही पुलिस जांच कर रही है।

बता दें कि जुलाई माह में होमगार्डो के डयूटी का फर्जी मस्टररोल तैयार कर भुगतान की शिकायत एक होमगार्ड ने एसएसपी वैभव कृष्ण से की थी। एसएसपी के निर्देश पर एसपी सिटी ने प्राथमिक जांच शुरू की। केवल मई व जून माह की शहर की सात कोतवाली की जांच में ही बड़े स्तर पर डयूटी के मस्टररोल में गड़बड़ियां मिली थी।इसके बाद एसएसपी ने इस प्रकरण की शिकायत शासन स्तर पर की थी। 

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.