नोट कर लीजिए तारीख, नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में भी खुलेंगे मॉल और रेस्तरां

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर खत्म होती दिखाई दे रही है। एक वक्त जहां नोएडा और गाजियाबाद में रोजाना बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिल रहे थे वहीं अब नए संक्रमितों की संख्या बेहद कम हो गई है।

Jp YadavTue, 15 Jun 2021 06:31 PM (IST)
नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में भी खुलेंगे मॉल और रेस्तरां, टाइमिंग और गाइडलाइन के लिए करना होगा इंतजार

नोए़डा-ग्रेटर नोएडा/गाजियाबाद, ऑनलाइन डेस्क। राजधानी दिल्ली की तर्ज पर नोएडा-ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में भी आगामी 21 जून से कोरोना कर्फ्यू में छूट दी गई है। इसके साथ ही शहर में रेस्तरां और मॉल को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने की अनुमति भी दी गई है। इससे जहां कारोबारी खुश हैं, तो वहीं इनमें काम करने वाली कर्मचारियों ने इसके लिए योगी सरकार का धन्यवाद दिया है। बता दें कि गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में हजारों की संख्या में लोग मॉल और रेस्तरां से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हैं।

गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में भी कोरोना संक्रमण से बेहतर होते हालात को देखते हुए कोरोना कर्फ्यू से राहत दी गई है। उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश के बाद आगामी सोमवार (21 जून) से कोरोना कर्फ्यू रात सिर्फ रात 9 बजे से सुबह 7 बजे तक ही प्रभावी रहेगा। वीकेंड कर्फ्यू पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है, ऐसा कोरोना के मामलों में कमी आने के चलते ऐसा निर्णय लिया गया है। वहीं हजारों लोगों का जीवनयापन भी प्रभावित हो रहा था।

50 फीसद क्षमता के साथ खुलेंगे मॉल और रेस्तरां

आदेश के तहत आगामी सोमवार से रेस्तरां और मॉल 50 फीसद क्षमता के साथ ही खोले जा सकेंगे। इसका मतलब यह है कि कर्मचारी 50 फीसद क्षमता के साथ आएंगे और उसी तरह 50 फीसद क्षमता के साथ मॉल खोला जा सकेगा। ठीक यही स्थिति रेस्तरां को लेकर भी रहेगी। दिल्ली की तरह रेस्तरां 50 फीसदी क्षमता के साथ खोला जा सकेगा। इसी तरह, पार्क, स्ट्रीट फूड आदि के संचालन की अनुमति भी होगी। इसी के साथ यहां पर शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा और हां मास्क हर हाल में लगाना है। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करवाने की जिम्मेदारी मॉल और रेस्तरां प्रबंधन की होगी। इतना ही नहीं, इन स्थलों पर कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य होगी।

 

नोएडा-ग्रेटर नोएडा में 88 दिन बाद आए सिर्फ 2 मामले

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर खत्म होती दिखाई दे रही है। एक वक्त जहां नोएडा शहर में रोज बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिल रहे थे, वहीं अब नए संक्रमितों की संख्या बेहद कम हो गई है। सोमवार को यह दहाई का आंकड़ा भी पार न कर सकी। बीते 24 घंटे में महज आठ नए कोरोना संक्रमित मिले, संक्रमण की वजह से नई या पुरानी एक भी मौत सामने नहीं आई। सक्रिय केस घटकर 176 रह गए। रिकवरी रेट 99 फीसद से अधिक है।

जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. मनोज कुशवाह ने कहा कि अब कुल संक्रमितों की संख्या 62,958 पहुंच गई है। 176 सक्रिय केस भी शामिल हैं, जिनका जिले के अलग-अलग कोविड अस्पताल में इलाज चल रहा है। जिले के 466 लोगों ने अब तक जान गंवाई है। सोमवार को एक भी संक्रमित की मौत नहीं हुई है। वहीं पिछले 24 घंटे में 44 लोग कोरोना से ठीक भी हुए हैं। अब ठीक होने वालों की संख्या 62,316 पहुंच गई हैं। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या के आधार पर जिले का प्रदेश में छठा स्थान है। वहीं सक्रिय मरीजों की संख्या के आधार पर जिला 12वें नंबर पर है। स्वास्थ्य विभाग, प्राधिकरण, नगर पालिका एवं जिला पंचायत विभाग की ओर से शनिवार को 391 स्थानों पर सैनिटाइजेशन किया गया।

ढिलाई बिल्कुल भी नहीं चलेगी

सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी ने बताया कि बीते 90 दिनों में कोरोना संक्रमण का ग्राफ शहर में बहुत तेजी से चढ़ा और फिर उतर भी आया। हालांकि कोरोना संक्रमण में कमी का यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि किसी प्रकार की ढिलाई बरतनी है, दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी मंत्र का अभी भी पालन करना है। वैक्सीन भी लगवानी चाहिए। संक्रमण दर में गिरावटजिले में कोरोना जांच की पाजिटिविटी दर में लगातार गिरावट हो रही है। पाजिटिविटी दर 0.5 फीसदी दर रह गई है। आरटी-पीसीआर जांच में 0.4 फीसद जबकि एंटीजन जांच की पाजिटिविटी दर 0.5 फीसद है। जिले में प्रतिदिन 5,250 एंटीजन व 2700 आरटी-पीसीआर जांच हो रही है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.