Hindu Migration Issue: दिल्ली से सटे यूपी के गांव में हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, दीवार पर लिखा मकान बिकाऊ है

Hindu Migration Issue ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक तीन कोतवाली क्षेत्र स्थित हल्दौनी गांव में एक हिंदू परिवार पलायन को मजबूर हो गया है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि दीवार पर लिख दिया गया है- मकान बिकाऊ है।

Jp YadavTue, 23 Nov 2021 09:07 AM (IST)
दिल्ली से सटे यूपी के गांव में हिंदू परिवार पलायन को मजबूर, दीवार पर लिखा 'मकान बिकाऊ है'

नई दिल्ली/ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। देश की राजधानी दिल्ली से कुछ किलोमीटर दूरी पर ग्रेटर नोएडा के एक गांव में यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से तकरीबन 5 महीने पहले चौंकाने वाला मामला सामने आया है। ग्रेटर नोएडा के ईकोटेक तीन कोतवाली क्षेत्र स्थित हल्दौनी गांव में एक हिंदू परिवार पलायन को मजबूर हो गया है। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि दीवार पर लिख दिया गया है- 'मकान बिकाऊ है'। कुछ साल पहले उत्तर प्रदेश के कैराना में भी इसी तरह के कई मामले सामने आए थे, तब यह मामला खूब चर्चा में रहा था। अब ग्रेटर नोएडा के गांव में इस तरह का मामला बड़े स्तर पर तूल पकड़ सकता है।

जागरण संवाददाता से मिली जानकारी के मुताबि, रोडरेज की घटना को लेकर दो युवकों के बीच हुए विवाद ने तूल पकड़ लिया है। एक समुदाय के डर की वजह से हिंदू परिवार पलायन को मजबूर हुआ है। दोनों पक्षों के बीच पांच महीने पहले रोडरेज को लेकर मारपीट हुई थी। आरोप है कि एक समुदाय के लोग हिंदू परिवार को डरा धमका रहे हैं।

पांच माह पहले गाड़ी टकराने को लेकर रोहित व अमन के बीच झगड़ा हुआ था। दोनों युवक अलग-अलग समुदाय के हैं। घटना के बाद से दोनों पक्षों के बीच दुश्मनी चली आ रही है। इस बीच पलायन का मुद्दा इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ है। रोहित के परिवार ने घर की दीवार पर लिखवा दिया कि यह मकान बिकाऊ है।

वहीं, मामले के सामने आने पर यूपी के गौतमबुद्धनगर जिले के कई लोगों ने इंटरनेट मीडिया पर फोटो अपलोड कर पीड़ित परिवार की मदद की गुहार लगाई है। ईकोटेक तीन कोतवाली प्रभारी भुवनेश शर्मा ने बताया कि पांच महीने से दोनों पक्षों के बीच विवाद चल रहा है। किसी पक्ष को यदि कोई दिक्कत है तो पुलिस से शिकायत करनी चाहिए। अगर शिकायत आती है तो इस मामले में विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.