Good News: कोरोना मरीज यहां मात्र एक रुपये जमा कर ले सकते हैं ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, देने पड़ेंगे ये कागज

कमजोर एवं असहाय लोगों को मात्र एक रुपये की कीमत पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराया जाएगा।

कोरोना से संक्रमित मरीजों की मदद के लिए चैलेंजर्स ग्रुप व वाइस आफ स्लम के संयुक्त प्रयासों से अनूठी पहल की शुरू की गई है। इसके तहत कोरोना से जूझ रहे आर्थिक रूप से कमजोर एवं असहाय लोगों को मात्र एक रुपये की कीमत पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराया जाएगा।

Vinay Kumar TiwariMon, 10 May 2021 01:12 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नोएडा। कोरोना से संक्रमित मरीजों की मदद के लिए चैलेंजर्स ग्रुप व वाइस आफ स्लम के संयुक्त प्रयासों से अनूठी पहल की शुरू की गई है। इसके तहत कोरोना से जूझ रहे आर्थिक रूप से कमजोर एवं असहाय लोगों को मात्र एक रुपये की कीमत पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराया जाएगा। वाइस आफ स्लम के संस्थापक देव प्रताप के मुताबिक अभी 50 कंसंट्रेटर मंगाए गए हैं। इसके अलावा विदेशों से और कंसंट्रेटर आर्डर किए जा चुके हैं। चैलेंजर्स ग्रुप के अध्यक्ष प्रिंस शर्मा ने बताया कि कंसंट्रेटर के लिए जरूरतमंद लोग फोन नंबर 9911258363, 83830 67207 के माध्यम से संपर्क कर सकते हैं।

इसमें दस्तावेजों के तौर पर पीड़ित का आधारकार्ड, ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल रिपोर्ट, कोरोना रिपोर्ट, चिकित्सक पर्चा और परिवार से किसी सदस्य का पहचान पत्र, मोबाइल नंबर प्रमाण के तौर प्रेषित करना होगा। दस्तावेजों के पुष्टिकरण के बाद उपकरण को मात्र एक रुपये में 10 से 15 दिनों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। संस्था का उद्देश्य इस महामारी में प्रत्येक जरूरतमंद तक हर संभव सहायता पहुंचाना है। ऐसे समय में हम सबको आगे आकर एक दूसरे की मदद करनी चाहिए, ताकि जल्द से जल्द हमारा देश कोरोना मुक्त हो सकें।

उधर अब नोएडा प्राधिकरण ने ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी को खत्म करने के लिए खुद का फंड खर्च कर उत्तर प्रदेश सरकार को विभिन्न क्षमता के 35 क्रायोजेनिक टैंकर देने का निर्णय लिया है। इसके लिए ग्लोबल टेंडर जारी कर दिया है। इसमें 24 मई तक कंपनियां रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) कर सकती है। संभवता जून में मेडिकल ऑक्सीजन की सुचारु आपूर्ति के लिए इन वाहनों को प्रदेश सरकार के पास उपलब्ध कराया जा सकता है।

नोएडा प्राधिकरण अधिकारियों के मुताबिक यह कार्य उत्तर प्रदेश शासन के निर्देशानुसार किया जा रहा है। अपर मुख्य सचिव गृह गोपन, कारागार एवं सतर्कता विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा नामित पेट्रोलियम व विस्फोटक सुरक्षा संगठन, ड्रग लाइसेंस एवं कंट्रोलिंग अथॉरिटी विभागों के नामित अधिकारियों के द्वारा उपलब्ध कराए गए तकनीकी स्पेसिफिकेशन के आधार पर ग्लोबल बिड रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) को तैयार किया गया है।

ये भी पढ़ें- कोरोनाकाल में इन हाइ प्रोफाइल लोगों ने पुलिस के लिए खड़ी की मुसीबत, तलाश में लगी हैं टीमें, पढ़िए कौन-कौन हैं शामिल

ये भी पढ़ें- कहीं आप भी तो नहीं लगवा रहे खराब हो चुकी वैक्सीन की डोज, पढ़ ले ये जरूरी खबर

ये भी पढ़ें- दिल्ली-एनसीआर में 100 से अधिक लोगों के पास मौजूद हैं नकली रेमडेसिविर, कर रहे इस्तेमाल तो एक बार जांच लें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.