एटीएम हैक कर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, एसटीएफ ने छह बदमाशों को किया गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक एसटीएफ नोएडा राज कुमार मिश्रा ने बताया कि आरोपितों ने एटीएम की मैकेनिकल फाल्ट का तरीका यूट्यूब पर देखा था।आरोपित पिछले वर्ष अक्टूबर में मध्य प्रदेश से भी जेल जा चुके हैं। दो माह जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आकर फिर से ठगी करने लगे।

Prateek KumarWed, 28 Jul 2021 09:32 PM (IST)
एटीएम को मैकेनिकली हैक कर पैसा निकालने वाले आरोपित।

नोएडा [मोहम्मद बिलाल]। एसटीएफ नोएडा ने सेक्टर-20 कोतवाली पुलिस के साथ की कार्रवाई में एटीएम के सर्वर में छेड़खानी कर लाखों रुपये की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर बुधवार को छह बदमाशों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों की पहचान कानपुर देहात निवासी कृष्ण कांत, अनूप कुमार, आशीष और रिंकू यादव, सीतापुर निवासी अमित और फतेहपुर निवासी प्रत्यूष के रूप में हुई है। इनके कब्जे से 18 हजार 675 रुपये नकद, 54 डेबिट कार्ड, तीन मोबाइल फोन व स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की है।

एटीएम को मैकेनिकली करते थे हैक

एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि आरोपित एटीएम को मैकेनिकली हैक कर पैसा निकाल लेते थे। एटीएम में छेड़छाड़ इस प्रकार करते थे कि पैसा निकलने के बाद भी कैंसिल का मैसेज आता था। कैंसिल मैसेज को आधार बनाकर आरोपित संबंधित बैंक में क्लेम करते थे और बैंक उन्हें पैसा वापस कर देता था।

कमीशन पर चलता था पूरा खेल

आरोपित अपने साथियों से उनके बैंक डेबिट कार्ड कमीशन पर लेकर फिर खातों में खुद पैसा डलवाकर उसे एटीएम से हैक कर पैसा निकाल लेते थे और एटीएम उस पैसे को स्वतः ही वापस होना दिखा देती थी। इसके बाद में कस्टमर केयर पर फोन कर शिकायत कर उस पैसे को वापस खाते में मंगा लेते थे। गिरोह में शामिल अन्य ठगों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस आरोपितों का आपराधिक इतिहास खंगाल रही है।

यूट्यूब पर देखा ठगी का तरीका

पुलिस अधीक्षक एसटीएफ नोएडा राज कुमार मिश्रा ने बताया कि आरोपितों ने एटीएम की मैकेनिकल फाल्ट का तरीका यूट्यूब पर देखा था। आरोपित पिछले वर्ष अक्टूबर में मध्य प्रदेश से भी जेल जा चुके हैं। दो माह जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आकर फिर से ठगी करने लगे। आरोपित अब तक करोड़ों रुपये की ठगी कर चुके हैं। गिरोह का सरगना प्रत्यूष है। वहीं रुस्तम ने कानपुर के डिग्री कालेज से स्नातक की पढ़ाई कर रखी है।

75 फीसद एटीएम कार्ड आरबीएल बैंक के

ठगों ने जिन एटीएम को टारगेट किया था। उनमें करीब 75 फीसद में आरबीएल बैंक के एटीएम कार्ड का प्रयोग किया गया है। अन्य बैंकों से इतर इस बैंक में पैसे की वापसी के लिए एप्लिकेशन नहीं देना होता है। बैंक कैंसिल मैसेज के आधार पर खुद ही पैसा खाते में वापस कर देता था। आरोपितों ने नोएडा, दिल्ली, लखनऊ, मुंबई, गुरुग्राम सहित दर्जनों शहरों के एटीएम से रुपये निकालने की घटना को अंजाम दिया था। आरोपितों ने आरबीएल बैंक से 22 लाख से अधिक की ठगी की है। अन्य बैंकों से भी डिटेल जुटाई जा रही है। जानकारी होने पर आरबीएल बैंक प्रबंधन की ओर से सेक्टर-20 कोतवाली में केस दर्ज कराया गया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.