Noida Gold Theft Case: सोसायटी के टावर-5 के फ्लैट नंबर 301 से हुआ था 40 किलो सोना चोरी

Noida Gold Theft Case करोड़ों रुपये का सोना व काला धन ग्रेटर नोएडा स्थित पूर्वांचल सिल्वर सिटी सोसायटी के टावर पांच के फ्लैट नंबर 301 से चोरी हुआ था। फ्लैट को आरोपित परिवार के योग गुरु कृष्ण मुरारी ने किराये पर लिया था।

Jp YadavFri, 18 Jun 2021 01:47 PM (IST)
Noida Gold Theft Case: सोसायटी के टावर-5 के फ्लैट नंबर 301 से हुआ था 40 किलो सोना चोरी

नोएडा, जागरण संवाददाता। करोड़ों रुपये का सोना व काला धन ग्रेटर नोएडा स्थित पूर्वांचल सिल्वर सिटी सोसायटी के टावर पांच के फ्लैट नंबर 301 से चोरी हुआ था। इस फ्लैट को आरोपित परिवार के योग गुरु कृष्ण मुरारी ने किराये पर लिया था। यह बात नोएडा पुलिस की जांच में सामने आई है। कृष्ण मुरारी पिछले छह साल से किसलय परिवार के योग गुरु हैं। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। पुलिस कृष्ण मुरारी के बैंक खातों के साथ उसके परिवार के सदस्यों के खातों की डिटेल भी खंगाल रही है। इस फ्लैट से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। मौके से फारेंसिक सैंपल भी लिए गए।

चोरी हुए आभूषण व नकदी के मालिक की तलाश में जुटी पुलिस राममणि पांडेय व उसके बेटे किसलय की तलाश कर रही है। पुलिस आरोपितों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी करने की तैयारी कर रही है। पुलिस गृह मंत्रलय व एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया के संपर्क में है। 40 किलो सोना व साढ़े छह करोड़ नकद चोरी की जांच कर रही टीम के एक अधिकारी ने बताया कि जेल गए आरोपितों ने राममणि पांडेय का नाम लिया था। राममणि फरार है और उसका बेटा किसलय विदेश में होने की बात कह रहा है। राममणि भी कहीं विदेश न भागने पाए। इसलिए पुलिस लुकआउट नोटिस जारी करवाने की तैयारी में है। राममणि की पत्नी संजू भी कई दिन से ग्रेटर नोएडा स्थित घर पर नहीं है। पुलिस को आयकर विभाग व प्रवर्तन निदेशालय से जवाब मिलने का इंतजार है। इसके बाद लुकआउट नोटिस जारी होगा।

 

खाली कर दिया फ्लैट

चोरी छिपाने की पूरी कोशिश की गई। इसलिए किराये के फ्लैट को तत्काल खाली कर दिया गया। जांच में यह भी सामने आया है कि चोरी सितंबर में नहीं बल्कि अगस्त 2020 में हुई थी। चोरी होने के बाद संपत्ति के मालिक या किसी को कोई शक नहीं हुआ। संपत्ति के मालिक ने अपने परिवार के किसी सदस्य को देखने के लिए भेजा, तो चोरी की जानकारी हुई।

अधिवक्ता ने लगाए आरोप

किसलय पांडेय के अधिवक्ता का कहना है कि पुलिस की कहानी मनगढ़ंत है। किसलय अमेरिका में है। पुलिस ने किसलय को नोटिस तक नहीं दिया है। परिवार को परेशान किया जा रहा है। वहीं पुलिस को आशंका है कि किसलय भारत में है। वह अमेरिका भागने की बात झूठ बोल रहा है। उसके खिलाफ रेड कार्नर नोटिस है। वह पिछले दो साल के दौरान भारत से बाहर नहीं गया है।

करोड़ों की चोरी के मामले में अहम सफलता मिली है। फ्लैट नंबर का पता चल गया है। मामले की बारीकी से जांच की जा रही है। - रणविजय सिंह, एडिशनल डीसीपी नोएडा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.