टीका लगवा चुके लोगों को गंभीर नहीं कर रहा कोरोना

टीका लगवा चुके लोगों को गंभीर नहीं कर रहा कोरोना

आशीष धामा नोएडा भले ही कोरोना का संक्रमण पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा खतरनाक साबित हो

JagranTue, 20 Apr 2021 10:01 PM (IST)

आशीष धामा, नोएडा : भले ही कोरोना का संक्रमण पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा खतरनाक साबित हो रहा है, लेकिन टीका लगवा चुके लोगों पर इसका खास असर दिखाई नहीं दे रहा। कोविड अस्पताल के आइसीयू में भर्ती एक भी ऐसा संक्रमित नहीं है, जिसे टीके की पहली या दूसरी डोज लग चुकी हो। हर जगह 45 वर्ष से अधिक उम्र के गंभीर रोगी व बुजुर्ग ही आइसीयू और वेंटिलेटर पर भर्ती हो रहे हैं। उधर, कोरोना का टीका लगवा चुके दर्जनों स्वास्थ्य कर्मचारी व अग्रिम पंक्ति के कर्मचारी भी कोरोना की चपेट में आए हैं, लेकिन किसी एक को भी अस्पताल में भर्ती करने की नौबत नहीं आई है।

सेक्टर-39 स्थित कोविड अस्पताल के चिकित्सक डॉ. टीके सक्सेना ने बताया कि वर्तमान में अस्पताल में 250 से अधिक संक्रमित भर्ती है। इनमें 50 आइसीयू पर है, सभी की आयु 45 वर्ष से ज्यादा है। अभी तक किसी को भी टीका नहीं लगा है। लिहाजा, इनकी तबीयत बिगड़ती जा रही है और डॉक्टर चाहकर भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं, लेकिन संक्रमण पर टीके के सकारात्मक परिणाम दिखाई दे रहे हैं। कुछ दिनों पहले अस्पताल की पैथोलाजी लैब में चार स्वास्थ्यकर्मी कोरोना की चपेट में आए थे, उन्हें अब तक कोई लक्षण नहीं है और न ही अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ी है। सेक्टर-39 सीएमओ कार्यालय में तैनात स्वास्थ्यकर्मी सुनील कुमार और पारस भी टीके के बाद संक्रमित हो गए थे। घर पर बेहतर खानपान व सावधानी से दोनों ने कोरोना को हरा दिया और दोबारा ड्यूटी कर रहे हैं। एक मार्च से जिले में 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा रहा है। संक्रमण ने प्रचंड रूप 11 अप्रैल के बाद दिखाना शुरू किया, यदि समय पर टीकाकरण कराते तो आज यह दिन देखना नहीं पड़ता।

---

टीका लगने के बाद कोरोना से कोई मौत नहीं

अब तक कोरोना का टीका लगवा चुके एक भी व्यक्ति की कोरोना से मौत नहीं हुई है। लोग टीका लगवाने के बाद कोरोना की चपेट में जरूर आ रहे हैं, लेकिन उनके शरीर में वायरस जानलेवा नहीं हो पा रहा है। इसके अलावा वह तेजी से स्वस्थ भी हो रहे हैं।

---

जिले में अबतक हो चुके कोरोना टीकाकरण की स्थिति

चरण - लाभार्थी - पंजीकरण - पहली डोज - दूसरी डोज

पहला - हेल्थ केयर वर्कर - 29,630 - 23,941 - 13,939

दूसरा - फ्रंटलाइन वारियर्स - 21,432 - 16,833 - 10,057

तीसरा - वरिष्ठ नागरिक - 2,27,000 - 1,86,720 - 11,927

---

जिले में कोरोना से प्रभावित क्षेत्र

ब्लाक संक्रमित

बिसरख 11,079

दनकौर 4,682

दादरी 1,859

जेवर 452

अन्य 13,525

---

जिले में उम्रवार संक्रमितों की संख्या

आयुवर्ग संक्रमित

0-10 1,000

11-20 1,950

21-40 14,950

41-60 9,094

60 से ऊपर 4,603

---

कोट:

कोरोना की दोनों डोज ले चुका हूं। 11 अप्रैल को कोरोना की चपेट में आया था। होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहा हूं। टीके के कारण वायरस जानलेवा नहीं बन पाया है। हल्की-फूल्की परेशानी जरूर है, लेकिन अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं। सभी को आगे आकर टीकाकरण कराना चाहिए। टीकाकरण सुरक्षित है और कोरोना से बचाव में कारगर भी।

- राजीव राय, डिप्टी कलेक्टर, गौतमबुद्ध नगर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.