दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

वैक्सीनेशन सेंटर से लेकर गांवों का मुख्यमंत्री करेंगे दौरा

वैक्सीनेशन सेंटर से लेकर गांवों का मुख्यमंत्री करेंगे दौरा

जागरण संवाददाता नोएडा रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नोएडा आ रहे हैं। इसको लेकर शहर को संवारने का काम शनिवार को भी नोएडा प्राधिकरण करता रहा। सेक्टर की सड़कों से लेकर गांव तक की गलियों को चमकाया जा रहा है। टूटी सड़कों को बनाने का काम जारी है। साफ-सफाई कराई जा रही है।

JagranSat, 15 May 2021 09:27 PM (IST)

जागरण संवाददाता, नोएडा : रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नोएडा आ रहे हैं। इसको लेकर शहर को संवारने का काम शनिवार को भी नोएडा प्राधिकरण करता रहा। सेक्टर की सड़कों से लेकर गांव तक की गलियों को चमकाया जा रहा है। टूटी सड़कों को बनाने का काम जारी है। साफ-सफाई कराई जा रही है।

अधिकारियों के मुताबिक, मुख्यमंत्री सेक्टर-38 बाटेनिकल गार्डन हेलीकाप्टर से उतरेंगे। यहां पर हेलीपैड बनाने का काम शुरू कर दिया गया है। यहां से मुख्यमंत्री सेक्टर 6 स्थित इंदिरा गांधी कला केंद्र में मीडिया वैक्सीनेशन सेंटर का भ्रमण करेंगे। इसके बाद सेक्टर-16 ए फिल्म सिटी स्थित एनटीपीसी में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करेंगे। इसके बाद एक या दो गांव में जाकर कोरोना को लेकर वहां की स्थिति देखेंगे। मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम की जानकारी मिलते ही नोएडा प्राधिकरण के आलाधिकारी से लेकर कर्मचारी तक शहर को संवारने में जुट गए हैं। मुख्यमंत्री वाले रूट को चमकाने का काम शुरू कर दिया गया है। संबंधित रूट पर टूटी सड़क को नए सिरे से बनाया जा रहा है। फुटपाथ, डिवाइडर, सड़क किनारे मुख्य स्थानों की दीवारों को साफ कराया जा रहा है। जगह-जगह गमले भी लगाए जा रहे हैं। गांव की गलियों की गहराई में जाकर गंदगी साफ की जा रही है। शनिवार को पूरे दिन अधिकारी शहर में संभावित रूट पर तैयारियों को देखते रहे। नोएडा प्राधिकरण अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी प्रवीण कुमार मिश्र ने बताया कि मुख्यमंत्री आगमन को देखते हुए प्राधिकरण स्तर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं।

बॉक्स..

मुख्यमंत्री का कार्यक्रम :

सुबह 9:00 बजे 5 कालिदास मार्ग से अमौसी एयरपोर्ट के लिए रवाना

सुबह 10:15 पर गाजियाबाद हिडन एयरपोर्ट पर आगमन

सुबह 10:30 बजे बॉटेनिकल गार्डन हेलीपैड नोएडा पर आगमन

सुबह 10:40 बजे कार द्वारा वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा

सुबह 10:40 से 10:50 तक वैक्सीनेशन सेंटर का भ्रमण

सुबह 11:00 बजे एनटीपीसी सभाकक्ष सेक्टर 16 ए पर आगमन

सुबह 10:00 से 12:00 तक प्रतिनिधियों के साथ बैठक

12:00 से 12:30 तक जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों के साथ बैठक

12:30 से 12:45 तक मीडिया ब्रीफिग

12:45 बजे एनटीपीसी सभाकक्ष से प्रस्थान

12:45 से 13:20 तक स्थानीय भ्रमण

13:25 पर बॉटेनिकल हेलीपैड से मेरठ पुलिस लाइन के लिए रवाना

दूसरी खबर मुख्यमंत्री के दौरे से टूटी स्वास्थ्य विभाग की कुंभकर्णी नींद

-आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे जिले का दौरा

-लोगों को है स्वास्थ्य सुविधा के नाम पर बड़ी राहत की उम्मीद मनीष तिवारी, ग्रेटर नोएडा: कोरोना संक्रमण काल में स्वास्थ्य विभाग कुंभकर्णी नींद सोता रहा। अस्पतालों में मरीज को भर्ती करने व दवा तक की व्यवस्था नहीं रही। इतना ही नहीं, संक्रमितों को आक्सीजन तक उपलब्ध नहीं कराई गई। कई संक्रमितों ने अस्पताल के गेट तो बड़ी संख्या में मरीजों ने घर में तड़प-तड़प कर जान गंवा दी। मरीजों के साथ ही उनके स्वजन की चीख-पुकार भी स्वास्थ्य विभाग को टस से मस नहीं कर सकी। जिले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दौरे की सूचना के बाद विभाग नींद से जागा है। आज मुख्यमंत्री गौतमबुद्धनगर में स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लेने आ रहे हैं। अधिकारियों में हलचल मची हुई है। लोगों को उम्मीद है स्वास्थ्य सुविधा के हिसाब से मुख्यमंत्री बड़ी राहत की घोषणा करेंगे। पिछले वर्ष भी मुख्यमंत्री ने संक्रमण काल में जिले का दौरा किया था, जिसके बाद व्यवस्था में सुधार हुआ था।

जिले के लोग पिछले करीब एक माह से कोरोना संक्रमण से पीड़ित हैं। इलाज के लिए कोविड अस्पताल तो बनाए गए, लेकिन संक्रमितों की बड़ी संख्या के आगे बेड कम पड़ गए। लोगों की सुविधा के लिए कोविड हेल्पलाइन बनाई गई। उम्मीद के साथ लोगों ने फोन किया, जहां से पीड़ितों को तीन हजार तक वेटिग मिली। ऐसे में संक्रमित लोगों की संख्या का आकलन स्वयं ही लगाया जा सकता है। लोगों ने घर में रहकर इलाज करना ही मुनासिब समझा। लगातार पैर पसार रही बीमारी को स्वास्थ्य विभाग ने हल्के में लिया। परिणाम गांव-गांव में संक्रमण के रूप में सामने आया। अस्पताल में बेड के साथ ही सर्वाधिक किल्लत आक्सीजन की हुई। आक्सीजन के लिए अस्पतालों में भी हाय-तौबा मची। घर में इलाज कराने वाले लोग आक्सीजन के लिए रात-रात तक भटकते रहे। आक्सीजन की व्यवस्था में भी विभाग फेल साबित हुआ। परिणाम लगातार मौत के रूप में सामने आया।

बीमारी से होने वाली मौत के सरकारी आंकड़े व वास्तविकता में जमीन आसमान का अंतर है, जिसका प्रमुख कारण है कि स्वास्थ्य विभाग बीमारी से गांव में हुई मौत की गिनती ही नहीं कर रहा है। मौत के बाद गांव के श्मशान में जलाए गए शवों का भी कोई रिकार्ड नहीं है। विभिन्न संसाधनों से लैस होने के बाद भी प्राधिकरण के अधिकारी उदासीन बन कार्यालय में ही बैठे रहे। नोएडा व ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने सैनिटाइज करने के नाम पर महज औपचारिकता ही पूरी की। हालांकि यमुना विकास प्राधिकरण ने गांवों में सैनिटाइज कराया। प्रदेश में शुरू हुए मुख्यमंत्री के दौरे के बाद विभाग में पिछले कुछ दिनों से अफरा-तफरी मची है। गांव-गांव कोरोना जांच हो रही है। प्राधिकरण के अधिकारी भी गांवों में पहुंचकर स्वास्थ्य की जानकारी ले रहे हैं। आक्सीजन देने के लिए सेंटर बनाए गए हैं। संक्रमितों को दवाओं का वितरण शुरू हुआ है। परिणामस्वरूप लोगों को इससे बड़ी राहत मिलने लगी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.