कृषि अध्यादेश के विरोध में रालोद ने लगाया जाम

कृषि अध्यादेश के विरोध में रालोद ने लगाया जाम

राष्ट्रीय लोकदल ने दिल्ली में किसानों को रोककर बर्बरता करने का आरोप लगाते हुए सिखेड़ा में पानीपत-खटीमा राजमार्ग पर जाम लगाया। भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कृषि विधेयक के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। इस दौरान मार्ग के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा।

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 09:59 PM (IST) Author: Jagran

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय लोकदल ने दिल्ली में किसानों को रोककर बर्बरता करने का आरोप लगाते हुए सिखेड़ा में पानीपत-खटीमा राजमार्ग पर जाम लगाया। भाजपा सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कृषि विधेयक के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई। इस दौरान मार्ग के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद रहा।

किसान आंदोलन को लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसानों में भी उबाल है। सोमवार को राष्ट्रीय लोकदल के जिला अध्यक्ष अजीत राठी के नेतृत्व में किसानों ने पानीपत-खटीमा राष्ट्रीय राजमार्ग की गंग नहर पर जाम लगा दिया। करीब एक घंटा लगे जाम में किसानों ने भाजपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। जिलाध्यक्ष व अभिषेक चौधरी गुर्जर ने कहां की किसानों पर लाठीचार्ज गंभीर मामला है। सरकार को किसानों की बात सुननी चाहिए न कि उन पर लाठीचार्ज करना चाहिए। जाम के दौरान पानीपत-खटीमा मार्ग व गंग नहर मार्ग पर वाहनों की लंबी कतारें लग गई, जिसमें एंबुलेंस भी फंसी रही। जाम के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात रहा। इस दौरान अजित राठी, अभिषेक चौधरी गुर्जर, कृष्णपाल राठी, सुधीर भारतीय, हर्ष राठी, पंकज राठी, राहुल राणा, कुलदीप सिंह व मोंटी कादियान आदि मौजूद रहे।

मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय हिदू शक्ति संगठन ने मांगों को लेकर प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपा। ज्ञापन में जनसंख्या नियंत्रण कानून तत्काल लाने, अधिक बच्चों वाले परिवारों को सरकारी योजनाओं से वंचित करने, दो बच्चों से अधिक वालों को चुनाव लड़ने और वोट देने के अधिकार से वंचित रखने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में संजय अरोरा, प्रवीण जैन, सोनू माहेश्वरी, अशोक त्यागी, संजीव मलिक, विपिन शर्मा, प्रमोद वर्मा, सुनील वर्मा, अमित मित्तल, राजकुमार गर्ग, गीता ठाकुर आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.