व्यवस्थाओं में गुजरा पहला दिन, आज से ओपीडी में बैठेंगे चिकित्सक

व्यवस्थाओं में गुजरा पहला दिन, आज से ओपीडी में बैठेंगे चिकित्सक
Publish Date:Thu, 24 Sep 2020 10:50 PM (IST) Author: Jagran

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। लॉकडाउन लगने के बाद से बंद चल रही जिला अस्पताल और जिला महिला अस्पतालों की ओपीडी गुरुवार से खुल गई, लेकिन पहले दिन केवल साफ-सफाई में ही दिन गुजर गया। जानकारी नहीं होने से मरीजों की संख्या भी काफी कम थी। वहीं चिकित्सक भी कमरों में साफ-सफाई ना होने से पहले दिन हेल्प डेस्क पर ही बैठकर मरीजों को देखते रहे। उधर औषधि वितरण कक्ष पूर्ण रूप से शुरू हुआ, जहां दवा लेने के लिए मरीजों की लाइन लगी रही।

मार्च में लॉकडाउन लगने के बाद सरकारी और निजी अस्पतालों में ओपीडी सहित सभी सेवाएं बंद हो गई थीं। मरीजों की परेशानी को देखते हुए टेलीमेडिशिन से चिकित्सकों के संपर्क करने की सुविधा जनपदवासियों को दी गई थी। इसके बाद निजी अस्पतालों की ओपीडी भी खोलने के लिए निर्देश जारी हुए थे। इससे मरीजों को राहत मिली। इतना ही नहीं जिला अस्पताल में इमरजेंसी के साथ मरीजों के लिए हेल्प डेस्क बनाई गई थी, जिसमें कुछ चिकित्सक बैठकर अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों को परामर्श दे रहे थे। अब छह महीने बाद मरीजों के लिए ओपीडी सेवाएं पटरी पर लौटी है। जिला अस्पताल की ओपीडी में पहले दिन केवल डा. संदीप रंजन ने ही बैठकर मरीजों को देखा। इसके अलावा अन्य चिकित्सकों के कमरों में सफाई का कार्य ही चलता रहा। चिकित्सकों ने हेल्प डेस्क पर बैठकर ही मरीजों को परामर्श दिया। वहीं नए ओपीडी मरीज करीब 480 पहुंचे हैं। मरीजों को ओपीडी शुरू होने के बारे में जानकारी का अभाव रहा, जिस कारण मरीज बड़ी संख्या में नहीं पहुंच पाए।

यह रहेगी ओपीडी में व्यवस्थाएं

गुरुवार को ओपीडी कक्षों के ताले तो खुल गए, लेकिन पहले दिन चिकित्सक नहीं बैठ पाए। शुक्रवार से पूर्ण रूप से ओपीडी में चिकित्सक बैठेंगे। चिकित्सकों के कमरों के बाहर सैनिटाइजर रखवाया जाएगा। वहीं मरीजों को शारीरिक दूरी का पालन करते हुए ओपीडी में अपने नंबर का इंतजार करना पड़ेगा। यहीं व्यवस्था जिला महिला अस्पताल में रहेगी।

औषधि वितरण कक्ष खुला

लॉकडाउन से बंद चल रही ओपीडी के दौरान मरीजों को हेल्प डेस्क से ही दवा का वितरण किया जा रहा था। गुरुवार को ओपीडी में बना औषधि वितरण कक्ष भी खुल गया। हेल्प डेस्क से चिकित्सकों द्वारा लिखी गई दवा मरीजों को औषधि वितरण कक्ष से दी गई, जिसके चलते वहां मरीजों की कतार लगी रही।

इनका कहना है

जिला अस्पतालों की ओपीडी खोलने के लिए सीएमएस को निर्देश दिए गए हैं, पहले दिन मरीज भी कम रहे, जिसके चलते ओपीडी व पर्ची बनाने के काउंटरों की व्यवस्था पहले जैसी की गई। शुक्रवार से पूर्ण रूप से ओपीडी चलेंगी। शारीरिक दूरी का पालन और अन्य नियमों के निभाने में मरीजों को भी ध्यान रखना होगा।

- डा. प्रवीण चोपड़ा, सीएमओ

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.