पालिका ने स्थगित किया मेला श्रावणी छड़ियान

नगरपालिका ने कोविड-19 संक्रमण के कारण इस वर्ष भी मेला श्रावणी छड़ियान स्थगित कर दिया है। कोरोना की तीसरी लहर की आंशका के चलते यह निर्णय लिया गया है।

JagranTue, 03 Aug 2021 12:22 AM (IST)
पालिका ने स्थगित किया मेला श्रावणी छड़ियान

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। नगरपालिका ने कोविड-19 संक्रमण के कारण इस वर्ष भी मेला श्रावणी छड़ियान स्थगित कर दिया है। कोरोना की तीसरी लहर की आंशका के चलते यह निर्णय लिया गया है। मेला के माध्यम से पालिका को 20 लाख रुपये तक की आय मिलती है। मेला लगातार दूसरी बार स्थगित किया गया है। यह मेला गोगा जाहरवीर म्हाड़ी पर छड़ी यात्रा निकालने के बाद प्रारंभ होता है।

कमाई का जरिया मेला छड़ियान

नगरपालिका के अलावा भी आसपास के दुकानदारों के लिए मेला छड़ियान कमाई का जरिया है। मेला में जीटी रोड के दोनों किनारों पर दुकानों की जमीन पालिका अलाट करती है। उसके आधार पर मेला सजाया जाता है। मेला में दूरदराज के दुकानदार कारोबार करते हैं, जिनसे पालिका को मोटी कमाई होती है। मेला पालिका के कोष में कम से कम 20 लाख रुपये का मुनाफा देता है। साथ ही नगर और देहात की जनता के लिए मनोरंजन का माहौल मिलता है।

अगस्त में होती है प्रक्रिया आरंभ

मेला श्रावणी छड़ियान के लिए अगस्त माह में दुकानों के आंवटन का टेंडर, झूलाघर, पार्किग के साथ अन्य व्यवस्था के लिए टेंडर छोड़े जाते हैं। रक्षाबंधन पर्व के निकट मेला छड़ियान रंग पकड़ता है। मेला में अनेक सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रम किए जाते हैं।

इन्होंने कहा..

कोविड संक्रमण के चलते मेला छड़ियान इस वर्ष भी स्थगित कर दिया गया है। किसी भी सार्वजनिक स्थान पर भीड़ का एकत्र होना कोरोना गाइडलाइन के विपरीत है। मेला में भीड़ जुटती है, जिसमें कोविड नियमों का पालन कराना संभव नहीं है।

-बिलकिस, चेयरपर्सन, नगरपालिका खतौली हर-हर महादेव, जय शंकर के जयकारों से गूंजे शिवालय

खतौली में श्रावण मास के दूसरे सोमवार को शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। मंदिरों में विशेष पूजा-अर्चना कर भगवान शिव का दूध, बेल-पत्र, फूल व फल से जलाभिषेक किया। परिवार में खुशहाली के लिए प्रार्थना की। सुबह से ही मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ लगी। श्रद्धालुओं ने सोमवार का उपवास भी रखा। जानसठ रोड स्थित शिव मूर्ति, नई आबादी स्थित झारखंड महादेवालय, बुढ़ाना रोड स्थित थानेश्वर महादेवालय, मेन रोड स्थित ताराचंद शिवायल, भूड़ स्थित नागेश्वर शिव मंदिर पर शिवभक्तों की भीड़ रही। मंदिर जय शंकर की, हर-हर महादेव के जयकारों से गू्जे। मंसूरपुर और रतनपुरी क्षेत्र में भी शिवभक्तों ने मंदिरों में भगवान शिव का जलाभिषेक किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.