दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

अपनों के बीच आकर अच्छा लगता है..

अपनों के बीच आकर अच्छा लगता है..

रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह के निधन से किसान वर्ग उनकी बातों का स्मरण कर दुखी है। लोकसभा चुनाव हारने और अंतिम बार जब जिले में आए तो ऐसी बातें कहकर गए जो भुलाए नहीं भूलती हैं।

JagranThu, 06 May 2021 11:57 PM (IST)

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह के निधन से किसान वर्ग उनकी बातों का स्मरण कर दुखी है। लोकसभा चुनाव हारने और अंतिम बार जब जिले में आए तो ऐसी बातें कहकर गए, जो भुलाए नहीं भूलती हैं।

वर्ष 2019 में लोकसभा चुनाव में हारने के बाद उनके समर्थकों में निराशा थी। हार के कुछ दिनों बात वह बुढ़ाना डाक बंगले पर आए थे। तब लोगों ने कहा चौधरी साहब हार से हताश मत होना। इस पर अजित सिंह ने कहा था आज राजनीति करने नहीं आया हूं। राजनीति करने की हसरत भी नहीं है। आज आपको धन्यवाद देने आया हूं। लोकसभा चुनाव में सभी ने साथ दिया। बैठकर गपशप करेंगे। राजनीति रहे या न रहे जान-पहचान तो रहेगी ही। आप लोगों के बीच आकर अच्छा लता है।

रालोद प्रवक्ता चौधरी अभिषेक गुर्जर बताते हुए हैं कि चौधरी सिंह की बातें आंखों को नम कर रही हैं। ऐसा लगता है मानो कल की बात हो। अंतिम बार वह एक माह सौरम पंचायत में आए थे। विवाद पर विराम लगाते हुए कहा था कि किसानहित में सोचो, न कि लड़ाई झगड़े के बारे में। सभी संकल्प लें कि आगे से आपस में नहीं लड़ना है। दिल्ली लौटते समय कहा था कि छोले-भटूरे नहीं खिलाओगे। तब हाइवे पर एक रेस्टोरेंट में बैठकर छोले-भटूरे खाए थे। रालोद के प्रदेश महासचिव सुधीर भारतीय बताते हैं कि चौधरी साहब बोलकर गए थे कि अपनों के बीच आकर अच्छा लगता है, फिर अब क्यों चले गए। इस प्रकार जाना दिल का साल रहा है। पिता-पुत्र ने दी श्रद्धांजलि

पूर्व सांसद अमीर आलम और उनके पुत्र पूर्व विधायक नवाजिश आलम ने चौधरी अजित सिंह के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने कहा रालोद प्रमुख का अचानक चले जाना किसानों के संघर्ष और भारतीय राजनीति में कभी न भरने वाली जगह छोड़ गया है। दिवंगत आत्मा को भगवान शांति दें। शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदना।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.