कोई क्या कहेगा, इसे छोड़ लक्ष्य प्राप्ति में जुटे रहें : आइएएस बिलाल

दैनिक जागरण के तत्वावधान में कस्बे के एम्बियंस एकेडमी में काउंसिलिंग सत्र आयोजित कर बच्चों को बेहतर करियर बनाने के लिए टिप्स दिए गए। बच्चों ने ध्यान से सुनकर बहुत सी जिज्ञासाएं शांत की। आइएएस बिलाल ने छात्रों की जिज्ञासा शांत करते हुए कहा कि कोई क्या कहेगा? इसे छोड़कर लक्ष्य प्राप्ति में जुटे रहें।

JagranSat, 31 Jul 2021 11:45 PM (IST)
कोई क्या कहेगा, इसे छोड़ लक्ष्य प्राप्ति में जुटे रहें : आइएएस बिलाल

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। दैनिक जागरण के तत्वावधान में कस्बे के एम्बियंस एकेडमी में काउंसिलिंग सत्र आयोजित कर बच्चों को बेहतर करियर बनाने के लिए टिप्स दिए गए। बच्चों ने ध्यान से सुनकर बहुत सी जिज्ञासाएं शांत की। आइएएस बिलाल ने छात्रों की जिज्ञासा शांत करते हुए कहा कि कोई क्या कहेगा? इसे छोड़कर लक्ष्य प्राप्ति में जुटे रहें।

दैनिक जागरण के तत्वावधान में एंबियंस एकेडमी में बच्चों के उज्ज्वल भविष्य के लिए स्कूल प्रबंधन ने कैरियर काउंसिलिंग सत्र का आयोजन किया। इसमें अध्ययनरत बच्चों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। काउंसिलिंग में 24 साल की उम्र में आइएएस पास करने वाले बिलाल ने बच्चों को टिप्स दिए। उन्होंने बच्चों को अपने वक्तव्य से इतना उर्जावान बना दिया कि बच्चों ने उनके मन में जो भी सवाल आए वह खुलकर साझा किया। बिलाल ने भी बच्चों के सभी सवालों का बहुत धैर्यपूर्वक जवाब दिया। उन्होंने शिक्षित बेरोजगारी का उल्लेख करते हुए उनके बारे में जानकारी दी। उन्होंने बेरोजगारी से निपटने के सभी उपायों को सरलता से बताया। कक्षा दस की गौरी गोयल के सवाल का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग। उन्होंने टीना डाबी आइएएस का उदाहरण देते हुए सभी को इस बारे में बताया कि कैसे उन्होंने किसी की परवाह किए बिना अपने कैरियर पर ध्यान देकर सफलता प्राप्त की। इस प्रकार कक्षा 9,10,11 के अनेक बच्चों ने उससे अपने कैरियर बनने के बारे में बहुत से सवाल किए। बच्चों ने उनसे सवाल करते हुए पूछा कि हम कक्षा 12 के बाद हम क्या क्या कर सकते है। सिविल सर्विस में जाने के लिए हमें कौन-कौन सी तैयारी करनी चाहिए। कुछ बच्चों ने सवाल किया कि कक्षा 12 के बाद हम क्या क्या कर सकते हैं। हमारे लिए क्या क्या अवसर होते है। सोशल मीडिया से बचने को हम क्या कर सकते हैं। बच्चों ने उनसे पूछा कि हम इंटरनेट का सही उपयोग कैसे कर सकते है। यू-ट्यूब के सही इस्तेमाल के लिए हमें कैसे पाजिटिव सोच रख सकते हैं। इसके अलावा बच्चों ने उनसे बहुत से सवाल किए जिनका उन्होंने शांतिपूर्वक जवाब दिया। बाद में उन्होंने बच्चों को से कहा कि अपने आप को पहचानों, स्टडी प्लान करो, कमजोर बिदुओं पर फोकस करो। उन्होंने आर्टिफशियल और इंटेलीजेंस, उद्देश्य जैसे महत्वपूर्ण विषय पर बहुत सहज तरीके से प्रस्तुत किया। अंत में प्रधानाचार्य रितिका महाजन ने सभी को धन्यवाद देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम को सफल बनने के लिए विनिता, साक्षी, विशाल, सत्येंद्र आदि का विशेष योगदान रहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.